Connect with us

BIHAR

भागलपुर स्थित कहलगांव एवं बाबा बटेश्वर स्थान गंगा घाट का होगा सौंदर्यीकरण

Published

on

भागलपुर के कहलगांव एवं बाबा बटेश्वर स्थान के गंगा घाटों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा। पांच सालों तक रखरखाव होगा। इस बाबत नगर विकास एवं आवास विभाग के उप सचिव को उप विकास आयुक्त सह जिला गंगा समिति के नोडल पदाधिकारी प्रतिभा रानी ने ज्ञापन सौंपा है।

इसके लिए उन्होंने तीन करोड़ 72 लाख 94 हजार रुपये राशि की डिमांड की है। इस से राशि पांच सालों तक कहलगांव व बाबा बटेश्वर स्थान गंगा घाटों सौंदर्यीकरण व रखरखाव किया जाएगा। उप विकास आयुक्त को इस आशय का प्रस्ताव नगर पंचायत कहलगांव के कार्यपालक पदाधिकारी ने भेजा था।

प्रतीकात्मक चित्र

कहलगांव के बटेश्वर स्थान के विकास का ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया गया है। एक किलोमीटर के रेंज का नक्शा भी तैयार हो गया है। पर्यटन विभाग को इस सप्ताह इसे भेजा जाएगा। जिला प्रशासन ने जो नक्शा बनाया है, उसके मुताबिक यू प्वाइंट बनेगा। लोग इस पर खड़े होकर प्राकृतिक नजारा का लुत्फ उठा सकेंगे। इसके अलावा विशेष टायलेट, पानी, चेंजिंग रूम, रेस्टोरेंट एवं कलर लाइट जैसे व्यवस्था रहेगी। एक किलोमीटर के एरिया में पेवर ब्लाक बिछाया जाएगा। यह प्रस्ताव सरकारी व प्राइवेट दोनों ही जमीन को लेकर किया गया है।

बता दें कि राज्य सरकार ने बटेश्वर स्थान और गंगा के बीच तीन पहाड़ी पर पर्यटकीय सुविधा बहाल करने के मकसद से लेकर जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी थी। जिले के डीएम सुब्रत कुमार सेन ने कहलगांव के अलग-अलग पर्यटन स्थल सहित केन्द्रीय विक्रमशिला विश्वविद्यालय के लिए देखी गई भूमि का अवलोकन लिया था। डीएम ने पर्यटन के लिहाज से कहलगांव के एसडीओ को बटेश्वर स्थान और गंगा के तीन पहाड़ी पर सुविधाएं कैसे बेहतर की जाए, इसका प्रस्ताव तैयार करने का आदेश दिया था।

बुधवार को एसडीओ ने नक्शा तैयार कर जिला प्रशासन को भेजा था, लेकिन उसमें कुछ कमियां रहने की वजह से उसे लौटा दिया गया। फिर से नक्शा को सुधार कर जिला प्रशासन को भेजा गया है। अब पर्यटन विभाग को इसे सौंपा जाएगा। पर्यटन विभाग राजी हो जाता है विकास की योजना से बटेश्वर स्थान का विकास शुरू हो जाएगा। धार्मिक रूप से बटेश्वर स्थान व तीन पहाड़ी विकसित है और दर्शनीय स्थल भी है।

Trending