Connect with us

BIHAR

बेटी बनी बिहार टॉपर, पिता चलाते हैं मिठाई की दुकान, नक्सल प्रभावित इलाके की सानिया बनीं‌ प्रेरणा

Published

on

कल बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने मैट्रिक वार्षिक परीक्षा-2022 के रिजल्ट की घोषणा की। इस बार टॉपर की लिस्ट में एक बार फिर लड़कियों ने बाजी मारी है। नवादा जिला के नक्सल प्रभावित रजौली इलाके की रहने वाली सानिया कुमारी टॉपर्स के लिस्ट में दूसरे नंबर पर जहां बनाने में कामयाबी पाई है। सानिया के पिता उदय प्रसाद रजौली बाजार में ही मिठाई की दुकान चलाते हैं। सानिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 486 अंक हासिल की है। अपने रिजल्ट से सानिया मायूस है। सानिया ने बताया कि उसे पूरी उम्मीद थी कि वह परीक्षा में शानदार उपलब्धि हासिल करेगी। सानिया की मानें, तो उसे गणित विषय में चार नंबर कम मिले हैं।

सानिया चार भाई-बहनों में सबसे छोटी है। बेटी की इस उपलब्धि से पूरे परिवार के लोग खुशी से गदगद हैं। मां किरण देवी घर में कामकाज को देखती है। पिता स्थानीय बाजार में ही मिठाई की दुकान चलाते हैं। शानिया ने शुरुआती पढ़ाई-लिखाई रजौली में ही प्राप्त की है। फिर प्रोजेक्ट कन्या इंटर विद्यालय रजौली से 10 वीं की परीक्षा दी। जिसमें यह उपलब्धि हासिल हुई है।

बता दें कि मैट्रिक परीक्षा का आयोजन 17 फरवरी से 24 फरवरी के बीच किया गया था। परीक्षा में टोटल 16.48 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे। परीक्षा खत्म होने के बाद से ही छात्र-छात्राओं में रिजल्ट को लेकर उत्सुकता का माहौल बना हुआ था। बिहार बोर्ड ने पूरी तत्परता दिखाते हुए रिकॉर्ड पहले वार्षिक परीक्षा के परिणाम जारी कर दिए।