Connect with us

BIHAR

बिहार का बेगूसराय जिला निर्यात के मामले से सबसे अव्वल, देखें अन्य जिलों का निर्यात में स्थान

Published

on

पेट्रोलियम पदार्थ के दम पर बिहार का बेगूसराय राज्य का सबसे बड़ा निर्यातक जिला बना हुआ है। वाणिज्य मंत्रालय द्वारा जारी सूची के मुताबिक बीते कई वित्तीय वर्ष से निर्यात में बेगूसराय को किसी जिलों से चुनौती तक नहीं मिल रही है। गत वर्ष अप्रैल महीने से इस वर्ष के जनवरी तक इसने टोटल करोड़ का निर्यात किया है, जो बिहार में अव्वल प्रदर्शन है। तिरहुत प्रमंडल के अंतर्गत आने वाले राज्य का शिवहर जिला सबसे फिसड्डी साबित हुआ है, टोटल निर्यात मात्र 0.003 करोड़ का रहा है।

बेगूसराय जिले में रिफाइनरी के चलते निर्यातक की लिस्ट में कई वर्षों से टॉप पर बना हुआ है। निर्यात की सूची में दूसरे नंबर पर राज्य का अररिया जिला है, जहां से 1646 करोड़ का निर्यात हुआ है।

प्रतीकात्मक चित्र

डीजल के निर्यात के आधार पर बेगूसराय राज्य में टॉप पर है, वहीं अररिया जिले से बोनलेस चिकन व फ्रोजेन का निर्यात हुआ है। जबकि निर्यात के सूची में तीसरा नाम तिरहुत का पूर्वी चंपारण जिले का है, यहां से इस पीरियड में टोटल 1547 करोड़ का चावल निर्यात हुआ है। इस लिस्ट में पटना जिला चौथे नंबर पर है, जिसका टोटल निर्यात इस अवधि में 898 करोड़ रहा है।

विशेष बात यह है कि राजधानी पटना से किसी खास वस्तु के निर्यात के रिकॉर्ड वाणिज्य मंत्रालय ने जारी नहीं किया है, वहां से मिश्रित वस्तुओं का निर्यात हुआ हैं। वहीं इस लिस्ट में पांचवे पायदान पर पूर्णिया जिला रहा है, जहां से इस पीरियड में टोटल 751 करोड़ का निर्यात हुआ है। पूर्णिया का निर्यात भी किसी विशेष वस्तु को लेकर नहीं किंतु मिश्रित चीजों को लेकर ही हैं।

निर्यात का फीसदी हिस्सा निर्यात किया है। वहीं तामिलनाडु देश में तीसरे स्थान पर रहा है, जहां से कुल निर्यात का 8.39 फीसदी निर्यात हुआ है। उत्तर प्रदेश को इस सूची में चौथा स्थान मिला है, जिसने देश के कुल निर्यात का 4.98 फीसदी अकेले निर्यात किया है। पांचवे स्तर पर आंध्रप्रदेश है, जो देश के कुल निर्यात का 4.76 फीसदी हिस्सा इस अवधि में निर्यात कर पाया है। वहीं बिहार 22वें स्थान पर बताया गया है। यहां से देश के कुल निर्यात का फीसदी ही निर्यात हो पाया है। हालांकि बिहार की स्थिति में पिछले साल की तुलना में सुधार दर्ज की गई है। पिछले वित्तीय वर्ष में 0.52 फीसदी निर्यात दर्ज किया गया था।

बिहार के विभिन्न जिलों से निर्यात होने वाली चीजों में बेगूसराय से पेट्रोलियम, पूर्वी चंपारण से चावल, मुजफ्फरपुर से चावल व लीची आदि, अररिया से बोनलेस मीट व फ्रोजेन, पटना से मिश्रित अनाज, आदि हैं। गोपालगंज से गेहूं व नींबू, जमुई से मशीनरी का सील, कटिहार से फल व सब्जी, मधेपुरा से सूत निछर्यात किया जाता है। बीते अप्रैल से इस साल जनवरी माह के बीच बिहार ने कुल 13892 करोड़ का निर्यात किया है, जिसमें चमड़ा, फल, अनाज व मिर्च आदि भी प्रमुख हैं। मुजफ्फरपुर राज्य में 20वें पायदान पर है जहां से 41 करोड़ का ही निर्यात हुआ है।

Trending