Connect with us

BIHAR

आईटी के सेक्टर में दिखेगा बिहार का जलवा, IT सेक्टर में बिहार को 800 करोड़ के निवेश का मिला प्रस्ताव

Published

on

बिहार सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग मंत्री ज‍िबेश कुमार ने कहा है कि ई-गवर्नेंस और सुशासन के लिहाज से राज्‍य के आईटी सेक्टर में निवेश करने के लिए निवेशकों के लिए नए रास्ते खुले हैं। बिहार का फोकस इंवेस्टर फ्रेंडली नीति बनाने पर है। अब निवेशक बिहार में अपनी संभावना तलाश रहा है। राज्य को वृहद स्तर पर निवेश का प्रस्ताव मिल रहा है।

मंत्री जिबेश कुमार ने कहा कि 800 करोड़ रुपए से ज्यादा का प्रस्ताव 29वां कन्वर्जेंस इंडिया एक्सपो 2022 आईटी विभाग, बिहार सरकार को मिला है। उन्होंने बताया कि डाटा सेंटर एवं अन्य में यह प्रस्ताव निवेश को लेकर मिला है। बिहार के आईटी सेक्टर में निवेश को लेकर निवेशकों ने गजब दिलचस्पी दिखाई है।

बता दें कि नई दिल्ली के प्रगति मैदान में तीन दिनों तक आयोजित होने वाले भारत व्यापार संवर्धन संगठन और एग्जीबिशन इंडिया ग्रुप के संयुक्‍त तत्‍वावधान में बिहार सरकार की ओर से 29वां कन्वर्जेंस इंडिया एक्सपो आयो‍ज‍ित क‍िया गया। 23 से 25 मार्च तक चलने वाले एग्‍जीब‍िशन में राज्य सरकार के आईटी मंत्री जिबेश कुमार प्रदर्शनी के अंतिम द‍िन बतौर विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत कर रहे थे।

आईटी मंत्री ने कहा कि आने वाले 10 साल में बिहार आईटी के सेक्टर में देश का प्रमुख व सबसे अग्रणी राज्य होगा। यहां की सरकार इंवेस्टर फ्रेंडली नीति बनाने पर जोर दे रही है। निवेशक की सहूलियत को ध्यान में रखते हुए सरकार नीति को बनाती है। मंत्री ने कहा कि बिहार ऐसा पहला राज्य होगा जो स्टार्टअप के लिए आइडिया लाने वालों के लिए विद्या उद्यमी योजना लेकर आ रहा है।

इस योजना के अंतर्गत स्टार्टअप से पूर्व उसके आईडिया पर कार्य करने वाले छात्र एवं लोगों को सरकार की ओर से आर्थिक सहयोग सहित सभी तरह से मदद किया जाएगा। उन्होंने कहा बिहार में कि लॉ एंड ऑर्डर, बिजली, पानी एवं आधारभूत संरचना के मामले में क्रांतिकारी परिवर्तन हुआ है। यही वजह है कि अब निवेशक बिहार में अपनी संभावना तराश रहे हैं। वृहद स्तर पर राज्य को निवेश का प्रस्ताव मिल रहा है।

मंत्री ने आगे कहा क‍ि बीते एक वर्ष में 30 हजार करोड़ रुपए से अधिक का निवेश का प्रस्ताव बिहार को मिला है। आज जब लोग स्मार्ट सिटी की बात करते हैं तो सीएम नीतीश कुमार इससे एक कदम आगे स्मार्ट विलेज पर अपना काम कर रहे हैं। उन्होनें सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि आज बिहार के गांव-गांव में सड़क, पानी, बिजली एवं अन्य बुनियादी आवश्यकताओं को बेहतर बनाने पर निरंतर काम जारी है।