Connect with us

BIHAR

बिहार को भारतमाला परियोजना फेज-2 के अंतर्गत 4 नए एक्सप्रेसवे की सौगात, इन जिलों को मिलेगा लाभ

Published

on

बिहार को चार नए एक्सप्रेस-वे की सौगात मिलने जा रही है। राज्य सरकार के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा है कि बिहार में भारतमाला परियोजना फेज-2 के तहत चार नए एक्सप्रेस-वे का निर्माण होगा।

आपको बता दें कि गोरखपुर-सिलिगुड़ी ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे, वाराणसी-कोलकाता ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे, रक्सौल-हल्दिया ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे और पटना-आरा-सासाराम ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे को बनाया जाना है। बुधवार को मंत्री नितिन नवीन बिहार विधान परिषद में विभागीय बजट के दौरान सरकार की ओर से जवाब दे रहे थे।

नितिन नवीन ने कहा कि गोरखपुर-सिलिगुड़ी ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का 416 किमी हिस्सा बिहार से होकर गुजरेगा। राज्य के कैमूर, रोहतास, औरंगाबाद और गया से होते हुए वाराणसी-कोलकाता ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे गुजरेगा, वहीं सूबे के रक्सौल, पूर्वी चंपारण, मुजफ्फरपुर, वैशाली, हाजीपुर और बांका से रक्सौल-हल्दिया ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे का हिस्सा गुजरेगा।

वहीं, पटना-आरा-सासाराम को ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस-वे बनाया जाएगा और इसको 381 करोड़ की राशि खर्च कर आरा रिंग रोड से जोड़ने के 12 किमी का कनेक्टिंग रोड बनाया जाएगा। मंत्री ने एशियन डेवलपमेंट बैंक के आर्थिक सहयोग से नौ प्रमुख सड़कों के चौड़ीकरण, अटल पथ फेज-2 एवं अन्य प्रमुख सड़कों, प्रमुख शहरों के बाइपास निर्माण एवं विभाग की अबतक की उपलब्धियों एवं वित्तीय साल 2022-23 के प्लान के बारे में पूरी जानकारी दी। सदन में पथ निर्माण विभाग की 58 अरब 19 करोड़ 02 लाख 50 हजार रुपए का अनुदान मांग ध्वनिमत से पारित हो गया।