Connect with us

BIHAR

बिहार-झारखंड के सीमावर्ती क्षेत्र महाराजगंज और मेहंदिया के बीच होगा नए सड़क का निर्माण

Published

on

बिहार-झारखंड की बॉर्डर महाराजगंज (राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-139) से मेहंदिया तक निर्माण होने वाली सड़क का काम अप्रैल महीने के पहले सप्ताह से शुरू हो जाएगा। यह सड़क महाराजगंज (संडा) से बालूगंज, बेढ़नी, चांदपुर, देव, ओरा, सोखेया, बघोई रेलवे स्टेशन होते हुए बघोईकला, देवहरा, देवकुंड, बांसाटाड़, केयाल के रास्ते मेहंदिया राष्ट्रीय राजमार्ग-139 (पटना मुख्य पथ) तक बनेगी।

बता दें कि 76 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर लगभग 78 किलोमीटर सड़क का निर्माण होगा। सड़क की चौड़ाई करीब साढ़े 5 मीटर होगी। सड़क के दोनों ओर फ्लैंक बनाया जाएगा। सड़क निर्माण की तमाम प्रक्रिया पथ निर्माण विभाग ने पूरी कर ली है। निविदा निष्पादन का काम पूर्ण हो गया है। कार्य कराने वाले संवेदक को काम का आवंटन किया जा रहा है। एकरारनामा की कार्रवाई जारी है। इस सड़क के निर्माण में भूमि अधिग्रहण नहीं होना है।

प्रतीकात्मक चित्र

सड़क बन जाने से देव के नक्सल प्रभावित दक्षिणी क्षेत्र के लोगों को फायदा होगा। ग्रामीणों के जीवन को नई रफ्तार मिलेगी। गाड़ियों का आना-जाना बढ़ेगा। मौजूदा समय में देव से बालूगंज एवं बालूगंज से संडा तक की सिगल सड़क की स्थिति दयनीय है। ढिबरा थाना क्षेत्र का क्षेत्र आज भी नक्सलियों से जूझ रहा है। इस थाना क्षेत्र के जंगल में हमेशा नक्सलियों का तांता लगा रहता है। सड़क बन जाने से जिला पुलिस एवं सीआरपीएफ, एसएसबी एवं एसटीएफ के सुरक्षाकर्मियों को भी नक्सल के खिलाफ अभियान चलाने में काफी मदद मिलेगी।

वहीं दूसरी ओर, 14 करोड़ 77 लाख पी राशि खर्च कर दाऊद नगर से हसनपुरा तक लगभग 14 किलोमीटर सड़क का निर्माण होगा। अप्रैल माह से सड़क निर्माण का काम शुरू हो जाएगा। साढ़े 5 मीटर चौड़ी बनने वाली सड़क के लिए टेंडर का काम भी पूरा हो गया है।

सड़क के बन जाने से हसनपुरा एवं दाउदनगर की दूरी तो कम होगी और लोगों को आने जाने में सहूलियत होगी। पीडब्लूडी के कार्यपालक इंद्रजीत कुमार आर्य बताते हैं कि सड़क निर्माण का यही समय है। अप्रैल माह से निर्माण शुरू हो जाएगा। बरसात के मौसम में निर्माण कार्य ठप होता है। कार्य एकरारनामा की कार्रवाई संवेदक के साथ की जा रही है।

Trending