Connect with us

BIHAR

भागलपुर में ईटीएस मशीन से जल्द होगा सर्वे, नहीं होगा भूमि विवाद, पूरे जिले में लागू होगी व्यवस्था

Published

on

शीघ्र ही भागलपुर जिले में जमीन का सर्वे शुरू होगा। भूमि बंटवारे में विवाद को कम करने के लिए अब इलेक्ट्रॉनिक टोटल स्टेशन मशीन का इस्तेमाल किया जाएगा। अब जरीब चेन के बजाय ईटीएस मशीन का प्रयोग किया जाएगा। भागलपुर जिले में इसकी शुरुआत भी कर दी गई है। जिला प्रशासन ने इसके लिए आठ उपकरणों की खरीद की है। गुरुवार के लिए अनुमंडल को तीन, अंचल को चार और एक मशीन राजस्व शाखा को सौंपा गया। मशीन के बारे में डीएम को भी जानकारी दी गई।

बता दें कि आठ ईटीएस मशीन खरीदने में जिला प्रशासन ने 48 लाख रुपए खर्च किए हैं। गुरुवार को एक राजस्व शाखा व भागलपुर सदर, नवगछिया, कहलगांव अनुमंडल और नारायणपुर, गोपालपुर, सुल्तानगंज और पीरपैंती प्रखंड को दिया गया है। अपर समाहर्ता राजेश झा राजा ने जानकारी दी कि जेम पोर्टल के जरिए मशीन की खरीदारी हुई है। सरकार ने 48 लाख रुपए का आवंटन जिले को दिया था।

j

अगले वित्तीय साल में आवंटन मिलने के पश्चात मशीन की खरीद कर बाकी के अंचलों को दिया जाएगा। इससे जमीन की पैमाइश में एक इंच भी इधर उधर नहीं होगा। पैमाइश में भी तीव्रता आएगी। कंपनी के तकनीकी एक्सपर्ट द्वारा सभी सीओ, डीसीएलआर और राजस्व अधिकारी को तीन दिन तक ट्रेनिंग दिया गया है। ट्रायल के तौर पर गुरुवार को रक्शाडीह में भूमि की नापी की गई।

इस दौरान मशीन ने बेहतर काम किया। बता दे कि बिहार में जमीन से जुड़ा विवाद एक बड़ी समस्या है। इसीसी का समाधान करने के लिए सरकार ने जमीन नापी के तरीकों को बदल देने का निर्णय लिया है। शीघ्र ही पूरे जिले में यह व्यवस्था लागू कर जाएगी।

Trending