Connect with us

BIHAR

बिहार बोर्ड टॉपर संगम की कहानी, पिता चलाते हैं रिक्शा, भविष्य में IAS बनने की है चाहत

Published

on

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने साल 2022 के बारहवीं के परिणाम जारी कर दिए हैं। जारी परिणाम से यह साबित हो गया है कि कुछ करने की चाहत हो और पूरी लगन के साथ किया जाए तो कोई भी बाधा आपको नहीं रोक सकती। बिहार बोर्ड की 12वीं परीक्षा में आर्ट्स स्ट्रीम से ओवरऑल टॉप करने वाले संगम राज की कहानी कुछ ऐसी ही है।

संगम गोपालगंज जिले के हैं। पिता ई-रिक्शा चलाकर परिवार का खर्च वहन करते हैं। संगम आपने रिजल्ट से बेहद खुश हैं। संगम बताते हैं कि स्टेट टॉपर होने की जानकारी पिताजी ने फोन के जरिए दी। जिस समय पिता ने फोन पर जानकारी दी, उस समय मैं कोचिंग में पढ़ाई कर रहा था।

संगम ने बताया कि कोविड के समय मैंने ऑनलाइन पढ़ाई की। मेरे गुरुजनों ने खासा सहयोग किया। संगम का मानना है कि दुनिया में कोई भी काम असंभव नहीं है। अगर मन में जज्बा है तो हर बाधाएं दूर हो जाती हैं। संगम अपनी सफलता का श्रेय कठिन परिश्रम, माता-पिता व शिक्षकों को देते हैं।

संगम तीन भाई है। एक भाई बड़ा है, तो दूसरा छोटा। संगम भविष्य में आईएएस बनना चाहते हैं। यूपीएससी क्लियर कर देश की सेवा करने की चाहत है। बता दें कि बीते दिन यानी बुधवार को रिकॉर्ड कायम करते हुए बिहार बोर्ड ने इंटरमीडिएट के नतीजे घोषित कर दिए। जारी परिणाम में टोटल 80.15 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुए हैं। कला में 79, वाणिज्य में 90.38 जबकि विज्ञान संकाय में 79.81 प्रतिशत छात्रों को सफलता मिली है।

Trending