Connect with us

BIHAR

बक्सर में काले हिरणों के लिए बनेगा राज्य का पहला अभ्यारण, सरकार ने दी मंजूरी

Published

on

बक्सर जिले के नवानगर ब्लॉक स्थित बरालेव (पिलापुर) गांव में काले हिरणों के लिए अभ्यारण बनाया जाएगा। जिला द्वारा भेजी गई प्रस्ताव पर राज्य कैबिनेट ने हरी झंडी दे दी है। बता दें कि काले हिरणों के लिए बनने वाला यह अभ्यारण राज्य का पहला अभ्यारण होगा। इसके बनने से जिले के पर्यटन को नया आयाम मिलेगा।

नीतीश सरकार के कैबिनेट द्वारा मुहर लगते ही पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग को अभ्यारण्य निर्माण के लिए जिले के भटौली पंचायत के बरालेव मौजा की इस आनवाद बिहार सरकार की जमीन को मुफ्त में हस्तनान्तरित कर दिया गया है। इस अभ्यारण्य के बन जाने से तकरीबन चार सौ एकड़ में फैली जंगलों में विचरण करने वाले अनोखे प्रजाति के काले हिरणों, नीलगायों व आवारा जानवरों को सुरक्षा के साथ एक स्थाई ठिकाना मिलेगा और पर्यटन के लिहाज से जिले की स्थिति सुधरेगी।

काला हिरण

जिले के डीएम अमन समीर ने काले हिरणों के लिए अभयारण्य बनाने की दिशा में पहल की थी। हम पिछले साल 24 फरवरी को नवानगर ब्लॉक में बियाडा द्वारा अधिग्रहित 491 एकड़ जमीन में हुई चाहरदीवारी का मुआयना करने पहुंचे थे। जंगल की जमीन का घेराबंदी के संबंध में मुआयना के लिए डीएम जंगल में मौजूद थे। जंगल में विचरण करते हुए दुर्लभ प्रजाति के हिरणों को देख डीएम काफी आकर्षित हुए।

इसी दौरान नावानगर, सीओ को इन हिरणों के अभ्यारण निर्माण के लिए भूमि उपलब्ध कराने का निर्देश दिया था। इसके बाद तत्कालीन शिव अमरेश कुमार ने 12 एकड़ जमीन का प्रस्ताव बिहार सरकार को भेजा था। जिला ने प्रस्ताव को मंजूरी देते हुए नीतीश सरकार को भेजी थी। जिला द्वारा भेजे गए प्रस्ताव को मंत्रिपरिषद की बैठक में सहमति मिल गई है। हिरणों के लिए बनने वाला राज्य का यह पहला अभ्यारण होगा।

Trending