Connect with us

BIHAR

बिहार के कॉलेजों को ऑनलाइन कोर्स की मंजूरी, UGC के मापदंड में मात्र पटना विमेंस कॉलेज योग्य

Published

on

पिछले दो सीजन से स्कूल और कॉलेजों की रूटीन में ऑनलाइन एजुकेशन ने अपनी जगह बना ली है। कोविड के वजह से जब स्कूल और कॉलेजों में बंदी की तलवार लटकी थी तब ऑनलाइन क्लास कर पढ़ाई को जारी रखा गया। इस नई व्यवस्था के नतीजे भी घोषित हुए और इसी का परिणाम है कि अब विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को आगे बढ़ा रहा है। आयोग ने विभिन्न कॉलेजों को ऑनलाइन कोर्स संचालन की मंजूरी देने का फैसला लिया है।

आयोग का मानना है कि सफल नामांकन अनुपात बढ़ाने में यह फैसला कारगर साबित हो सकता है। वर्तमान में देश का सकल नामांकन अनुपात 30 प्रतिशत ही है। नई शिक्षा नीति में 2035 तक इसे 50 फीसद तक बढ़ाने की कोशिश हो रही है। ऐसे में ऑनलाइन कोर्सेज संचालन को बेहतर विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है। बता दें कि वर्तमान में विश्वविद्यालयों को ही ऑनलाइन पाठ्यक्रमों की शुरुआत की अनुमति मिली है, लेकिन अब कॉलेजों को भी दिया जाएगा। इसके लिए आयोग की ओर से निर्धारित क्राइटेरिया में राज्य का सिर्फ पटना विमेंस कॉलेज ही योग्य कॉलेज की कैटेगरी में है, जिसे ऑनलाइन कोर्स शुरू करने के रास्ते में कोई बाधा नहीं आएगी।

जो कॉलेज रैंकिंग और ग्रेडिंग व्यवस्था में शीर्ष पर हैं उन्हीं कॉलेजों को यूजीसी की इस नई सुविधा का लाभ मिलेगा। यूजीसी नेट के लिए दो प्रकार से क्राइटेरिया निर्धारित किया है। पहला क्राइटेरिया नेशनल इंस्टीट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क की रैंक बेस्ड है, जबकि दूसरा क्राइटेरिया नैक ग्रेडिंग के आधार पर है। एनआईआरएफ में लगातार दो टेन्योर में टॉप 100 इंस्टिट्यूशन में रहने वाले कॉलेजों को मंजूरी दी जाएगी, जबकि नैक ग्रेडिंग में उन ऑटोनॉमस कॉलेजों को मंजूरी दी जाएगी, जिन्हें ए ग्रेड मिला हो और उनका अंक कम से कम 3.26 हों। जो कॉलेज इन दोनों क्राइटेरिया को फुल फील करते हैं उन्हें ऑनलाइन कोर्स संचालन के लिए यूजीसी की मंजूरी की दरकार नहीं होगी।

बता दें कि बिहार में ऑटोनॉमस कॉलेजों में अभी सिर्फ पटना वीमेंस कॉलेज शामिल है। लगातार तीन साइकिल में पटना वीमेंस कॉलेज को नैक ग्रेडिंग में ए प्राप्त है। करंट साइकल में पटना वीमेंस कॉलेज को 3.58 अंक मिले हैं। ऐसे में यूजीसी जब ये व्यवस्था शुरू करेगा तो पटना वीमेंस कॉलेज ही बिहार में एकमात्र ऐसा कॉलेज होगा, जो ऑनलाइन कोर्स संचालन के लिए योग्य होगा। हालांकि एएन कॉलेज भी नैक ग्रेडिंग में लगातार तीन साइकल में ए ग्रेड प्राप्त कर चुका है। इसकी अगली नैक ग्रेडिंग अक्टूबर,2022 में शुरू होगी।