Connect with us

BIHAR

अमेरिका के तर्ज पर बिहार में हेलीकॉप्टर से शराबबंदी सर्वे, माफियाओं की उड़ी नींद, एक्शन में नीतीश सरकार

Published

on

बिहार में शराबबंदी को सख्ती से लागू कराने व ठिकानों का भंडाफोड़ करने के लिए नीतीश सरकार नए-नए तरीके आजमा रही है। पहले खुद पुलिस शराब माफियाओं पर नकेल कसती थी, फिर ड्रोन से सर्वे करके शराब माफियाओं को पकड़ने का सिलसिला चला लेकिन अब नीतीश सरकार ने ब्रिटेन और अमेरिका के तर्ज पर अवैध ठीकानों पर नकेल कसने के लिए हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

इस अभियान के तहत मंगलवार के दिन हेलीकॉप्टर से पहली बार सर्वे करके माफियाओं पर नकेल कसी गई। पटना से बाढ़ तक हेलीकॉप्टर से गंगा के दियारा इलाकों में मद्य निषेध में उत्पादन विभाग के अधिकारियों ने हवाई सर्वे कर 5 अवैध ठिकानों का भंडाफोड़ किया। संबंधित पुलिस और उत्पाद अधिकारियों को इसकी सूचना अधिकारियों ने दे दी है। ये अधिकारी आगे की कार्रवाई करेंगे। विभाग ने इसका वीडियो भी जारी किया है।

बता दें कि हेलीकॉप्टर में पायलट के साथ 5 लोग बैठ सकते हैं। रोजाना 6 से 7 घंटे तक का हेलीकॉप्टर ऑपरेशन को अंजाम देने में सक्षम है। एक घंटे के उड़ान पर 75 हजार से एक लाख रुपए की खर्च आएगी। हवाई सर्वे के दौरान उत्पाद विभाग के आला अधिकारियों के साथ इंजीनियर और सपोर्ट डिटेक्शन विशेषज्ञ भी मौजूद रहेंगे। सपोर्ट डिटेक्शन विशेषज्ञ उस इलाके की पहचान कर रहे जगह को चिन्हित करेंगे। उड़ान के पहले दिन मंगलवार को एक घंटे से ज्यादा की उड़ान हेलीकॉप्टर ने भरी थी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खुद इसकी निगरानी कर रहे हैं। मंगलवार को सीएम नीतीश ने भागलपुर से लौटने के बाद पटना हवाई अड्डे पर हेलीकॉप्टर द्वारा की गई कार्रवाई की तमाम जानकारी ली। मद्य निषेध विभाग के अधिकारियों की मानें तो बक्सर इलाके में बुधवार को हेलीकॉप्टर से अवैध शराब ठिकानों के बारे में पता लगाया गया। अधिकारियों ने बताया कि हेलीकॉप्टर के सर्वे से शराब कारोबारियों में हड़कंप मचा है।

Trending