Connect with us

BIHAR

राजगीर के जंगलों से होकर गुजरेगा एलिवेटेड कॉरिडोर, 1300 करोड़ के लागत से बनेगा 8.7 किमी लंबा कॉरिडोर

Published

on

बुधवार को सीएम नीतीश ने राजगीर जू-सफारी का उद्घाटन किया और इसी बीच राजगीर को सरकार एक और बड़ी सौगात देने जा रही है। शीघ्र ही घने जंगलों के बीच सरकार आज 8.7 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड कॉरिडोर बनाएगी। बता दें कि पिछले साल सितंबर में इस परियोजना को केंद्र सरकार ने हरी झंडी दी थी। 1300 करोड़ रुपए के लागत से 8.7 किलोमीटर लंबे कोरिडोर बनने वाले इस परियोजना को केंद्र सरकार के परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने मंजूरी दी है।

मिली जानकारी के मुताबिक एलिवेटेड कॉरिडोर रोप-वे के निकट उतरने और चढ़ने के लिए रैंप भी बनाया जाएगा। राजगीर के घने जंगलों से गुजरने वाले पर्यटक एलिवेटेड रोड से खूबसूरत वादियों का लुफ्त उठा सकेंगे। बता दें कि सीएम नीतीश कुमार की महत्वाकांक्षी परियोजनाओं में राजगीर को शुमार किया गया था जिसके बाद भारत सरकार की ओर से राजगीर में फोरलेन एलिवेटेड कॉरिडोर निर्माण को हरी झंडी मिल गई थी।

प्रतीकात्मक चित्र

बताते चलें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजगीर के दक्षिणी हिस्से में नवादा और नालंदा जिला की सीमा रेखा से सटे बानगंगा पुल एवं उत्तर दिशा में राजगीर बिहार-शरीफ मार्ग के पास अनुमंडल मुख्यालय के मध्य फोरलेन एलिवेटेड रोड बनाने का आदेश दिया था। सीएम नीतीश ने दो बार स्थल निरीक्षण किया उसके बाद पथ निर्माण विभाग ने भारत सरकार को प्रस्ताव सौंपा था जिसे मंजूरी मिलने के बाद निर्माण की कवायद शुरू हो गई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.