Connect with us

NATIONAL

गाड़ियों के सुरक्षा के लिए स्टार रेटिंग पेश करेगी भारत सरकार, नितिन गडकरी ने बताई सरकार की योजना

Published

on

यात्री गाड़ियों में सुरक्षा के प्रति लगातार लोगों की बढ़ रही चिंताओं को देखते हुए भारत सरकार देश में बेचे जाने वाले गाड़ियों के लिए स्टार रेटिंग का अपना संस्कार लाने पर अमल कर रही है। हाल ही में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक बयान दिया था उन्होंने कहा था कि देश में कुछ मानकों के आधार पर सुरक्षा को मानकीकृत करने की प्रक्रिया शुरू होगी जो ज्यादा लोगों को सुरक्षित कार खरीदने की दिशा में प्रोत्साहित करेगी।

भारत सरकार यात्री गाड़ियों में सुरक्षा मानकों को बढ़ाने की दिशा में शुरू से ही आगे आती रही है, इसके पीछले कदमों में साफ जाहिर है कि यात्री कारों में रिवर्स पार्किंग सेंसर, ड्राइवर एयरबैग, स्पीड अलर्ट और एबीएस के इस्तेमाल को मानकीकृत करना। इसी साल यानी जनवरी, 2022 में सबसे पहले मंत्रालय ने यात्री गाड़ियों में फ्रंट एयरबैग को आवश्यक रूप से इस्तेमाल करने का आदेश दिया है।

उपरोक्त उपायों के अतिरिक्त, भारत सरकार ने पहले ही मोटर वाहन नियमों में कुछ मुख्य संशोधनों का ऐलान किया है। इनमें से कुछ अनिवार्य परिवर्तन, जिन्हें जल्द ही चरणबद्ध तरीके से पेश किया जाना है, इलेक्ट्रॉनिक स्थिरता नियंत्रण, उन्नत आपातकालीन ब्रेकिंग और ड्राइवर उनींदापन चेतावनी प्रणाली का इस्तेमाल हैं। बता दें कि पीछे की सीट पर सरकार मध्यम यात्री के लिए छह एयरबैग और तीन सूत्री सीट बेल्ट अनिवार्य सुविधाओं पर अमल कर रही है और इस विचार की व्यवहार्यता पर कार्य कर रही है।

ET Auto की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत सरकार स्टार रेटिंग देने के लिए कई परीक्षणों के लिए कई मानकों पर अमल करेगी। प्रमुख मानदंड वाहन संरचना, वयस्क और बच्चे की सेफ्टी, इनबिल्ट सुरक्षा सहायता प्रौद्योगिकियां, सीट बेल्ट अनुस्मारक और इलेक्ट्रॉनिक स्थिरता नियंत्रण हैं। ये पैरामीटर वैश्विक मानकों के अनुसार हैं, इस प्रकार इस कदम की वास्तविकता की पुष्टि करते हैं।

शीघ्र ही इस प्रक्रिया को लागू करने के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय द्वारा प्रस्तावित विस्तृत प्रोटोकॉल को आने वाले कुछ महीनों में मंजूरी मिल जाएगी। अगर ऐसा लागू होता है तो भारत में बिकने वाली सभी पैसेंजर गाड़ियों के लिए स्टार रेटिंग अनिवार्य हो जाएगा। नितिन गडकरी के मुताबिक इस कदम से कार खरीदने वाले लोगों के बीच सुरक्षा प्रदान करने और ईंधन की दक्षता, आराम और परफॉर्मेंस जैसे पारंपरिक मापदंडों के सोचने की प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending