Connect with us

BIHAR

गंगा को साफ करने का पहल, इस साल के अंत तक गंगा में गिरने वाले गंदे पानी को पूरी तरह रोक दिया जाएगा

Published

on

इस साल के अंत तक गंगा में एक बूंद भी पानी नहीं गिरेगा ये बातें शुक्रवार को निरीक्षण कर रहे बुडको एमडी अभिषेक सिंह ने कहा। वर्तमान में नमामि गंगे परियोजना के तहत पटना में छह एसटीपी में से तीन एसटीपी कार्य कर रहे हैं। अत्याधुनिक तकनीक के इस्तेमाल से बनाए गए पहाड़ी एसटीपी का ट्रायल रन किया जा रहा है।

शुक्रवार को पटना के एसटीपी का निरीक्षण बुडको एमडी अभिषेक सिंह कर रहे थे। उन्होंने जानकारी दी कि इसी साल के अंत तक सभी एसटीपी का काम पूरा हो जाएगा। एमडी ने बताया कि आने वाले 30 साल की आबादी के मद्देनजर एसटीपी बनाया जा रहा है। वर्तमान में बेउर एसटीपी आठ एमएलडी, सैदपुर एसटीपी सात एमएलडी और कर्मलीचक एसटीपी सात एमएलडी पानी के साथ संचालित किया जा रहा है।

सांकेतिक चित्र

अप्रैल महीने तक नेटवर्क को पूरा करने का लक्ष्य दिया गया है।कंकड़बाग और दीघा एसटीपी और नेटवर्क काम के निर्माण में तीव्रता लाई गई है। एमडी अभिषेक सिंह ने कहां की नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की गाइडलाइन का पालन करते हुए एसटीपी के आसपास प्लांटेशन और ग्रीन एरिया डेवलप करें। उन्होंने नेटवर्क को टैग कर सभी क्षेत्रों के पानी एसटीपी तक लाए जाने का निर्देश दिया। कर्मलीचल और बेउर एसटीपी में मुरैना करने के दौरान पौधारोपण किया गया।

बुडको एमडी अभिषेक सिंह संप हाउसों का भी निरीक्षण किया। उन्होंने गोसाई टोला संप, कुर्जी संप, राजबंशी नगर, पुनाइचक, गर्दनीबाग संप के स्थिति को देखते हुए इनलेट और आउटलेट के रास्ते की बाधाएं दूर करने के निर्देश दिए। उन्होंने साफ तौर पर निर्देश दिया की पानी मिलने की व्यवस्था की जाएं। पुनाइचक, गर्दनीबाग, राजबंशी नगर इलाकों में जलजमाव की समस्या नहीं होनी चाहिए।

Source- Dainik Jagran

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending