Connect with us

BIHAR

बिहार के लाखों राशनकार्ड धारी का कटेगा नाम, जाने किन लोगों का नाम कटने की है संभावना

Published

on

एक ही राशन कार्ड पर 20 से ज्यादा परिवारिक सदस्यों के नाम के चलते राज्य के लगभग तीन लाख राशन लाभुक शक के दायरे में आ गए हैं। ऐसे राशन कार्ड वाले परिवारों के सत्यापन का आदेश व खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने दे दिया है। आदेश में सभी जिलों को कहा गया है कि परिवारिक सदस्यों का सत्यापन नहीं होने की स्थिति में ऐसे राशन कार्ड धारी को रद्द किया जाये।

विभागीय आदेश के बाद जिले में ऐसे राशन कार्डधारी परिवारों की लिस्ट बनाई गई है। अकेले मुजफ्फरपुर जिले में लगभग 10 हजार राशन कार्ड ऐसे हैं जिनपर परिवारिक सदस्यों की संख्या 20 से 35 के बीच है। खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के निदेशक के आदेश के बाद ओएसडी संगीता सिंह ने सभी जिलों को निर्देश दे दिया है। देश में साफ तौर पर कहा गया है कि समीक्षा में यह बातें निकल कर आई है कि राज्य के जिलों में राशन कार्ड की संख्या ऐसी है, जहां 20 से अधिक परिवारिक सदस्यों का नाम है।

प्रतीकात्मक चित्र

ऐसे राशन कार्ड के जरिए खाद्यान्न की कालाबाजारी की आशंका है। आज के समय में एक राशन कार्ड पर परिवार के 20 सदस्यों का नाम चौंकाने वाला है। विशेष कार्य पदाधिकारी ने सभी एसडीओ को इसके सत्यापन के निर्देश दिए हैं। निर्देश में कहा गया है कि शक के दायरे में आने वाले राशन कार्ड की जांच कर सत्यापन किया जाए। सत्यापन अवैध पानी की स्थिति में ऐसे राशन कार्ड को रद्द करने की कार्रवाई की जाए। सभी एसडीओ को राशन कार्ड सत्यापन के लिए 15 दिन की मोहलत दी गई है।

मुजफ्फरपुर विभाग ने ऐसे राशन कार्ड धारियों को सूची जारी की है, दोनों अनुमंडल को मिलाकर लगभग 10 हजार राशन कार्ड पर 20 से ऊपर सदस्यों का नाम है। शहरी क्षेत्र में लगभग पांच सौ, मुशहरी में 1700, बोचहां में 800, बंदरा में 345, सकरा में 1300, गायघाट में 1200, कुढ़नी में 3000, औराई में 700 के अलावा मीनापुर, सरैया, साहेबगंज, मोतीपुर, पारू व अन्य अंचलों के भी राशन कार्ड शामिल हैं। जिला स्तर पर अभी स्क्रुटनी का दौर जारी है। इसकी जांच के आदेश दोनों एसडीओ ने दिए हैं।

एसडीओ पूर्वी ज्ञान प्रकाश ने कहा है कि 20 से ऊपर परिवारिक सदस्यों वाले राशन कार्ड के सत्यापन के आदेश दिए गए हैं। प्रखंड वाइज राशनकार्ड धारियों की लिस्ट बनाई जा रही है। परिवारिक सदस्यों की जानकारी सत्यापन में अवैध पाई जाती है तो कार्ड रद्द किया जाएगा। राशन कार्ड का दोहराव के भी मामले सामने आए हैं। ऐसे लाभुकों का एक जगह कार्ड निरस्त किया जाएगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending