Connect with us

MOTIVATIONAL

गरीबों के लिए मसीहा बने डॉक्टर सुनील, लाखों मरीजों का फ्री में कर चुके हैं इलाज, मिल चुका है दर्जनों अवार्ड

Published

on

जिनके पास डॉक्टर से दिखाने तक पैसे नहीं होते हैं उन लोगों के लिए बेंगलुरु के डॉक्टर सुनील कुमार मसीहा बनकर उभरे हैं। बीते 10 सालों में डॉक्टर सुनील 800 से ज्यादा मेडिकल कैंप लगा चुके हैं और 1 लाख 20 हजार से अधिक निर्धन असहाय लोगों का नि:शुल्क इलाज कर चुके हैं।

आम डॉक्टरों की तरह डॉक्टर सुनील भी किसी अच्छे निजी अस्पताल में प्रैक्टिस कर आलीशान जिंदगी व्यतीत करने की शौक रखते थे। लेकिन 10 साल पूर्व हुई एक घटना ने उनकी पूरी जिंदगी बदल दी। आज डॉक्टर सुनील अपने से ज्यादा उन लोगों के बारे में सोचते हैं जिनके पास डॉक्टर की फीस तो दूर दवाइयों और खाने तक के पैसों का अभाव है।

जरूरतमंद लोगों के पास डॉक्टर सुनील खुद जाकर उनका नि:शुल्क उपचार करते है। इसके लिए उन्होंने अपनी कार को मोबाइल क्लीनिक में बदल दिया है। वे अपना फोन 24 घंटे चालू रखते हैं। जैसे ही कॉल या मैसेज के माध्यम से सूचना मिलती है वह बिना लेट-लतीफ किए ही चलते-फिरते क्लीनिक के साथ जरूरतमंदों के उपचार में निकल पड़ते हैं।

बात साल 2010 की है जब बेंगलुरु, मल्लेश्वरम के रहनेवाले डॉ सुनील कुमार ने मोबाइल क्लीनिक की शुरुआत की थी। हर दिन की तरह उस दिन भी डॉ व्यस्त थे। वे तमिलनाडु में होसुर-चेन्नई हाईवे से अपने अस्पताल की ओर जा रहे थे। तभी उनके सामने अचानक सड़क दुर्घटना हुई। डॉक्टर सुनील ने तुरंत घायल व्यक्ति का प्राथमिक उपचार किया और पास के अस्पताल में अच्छी इलाज के लिए ले गए।

व्यस्त भरी जिंदगी में शाम होते-होते डॉक्टर सुनील इस घटना को भूल चुके थे। अगले दिन घायल व्यक्ति की महान है उन्हें फोन कर शुक्रिया अदा किया और घर आने का आग्रह करने लगीं। समय निकालकर डॉक्टर सुनील उनके घर गए। नम आंखों से घायल व्यक्ति की मां डॉक्टर सुनील को धन्यवाद कह रही थी। उन लोगों की माली हालत इतनी जर्जर थी कि किसी डॉक्टर के पास उपचार करने तक के पैसे नहीं थे।

डॉक्टर सुनील बताते हैं कि मेरी मेडिकल पढ़ाई पूरी करने के लिए परिवार को कर्ज लेना पड़ा और जब अच्छी नौकरी लगी तो ऐसा लगा जैसे सारी परेशानियां जड़ से खत्म हो गई हैं। बीजापुर मेडिकल कॉलेज से मेडिकल की पढ़ाई करने के बाद एक अच्छे निजी हॉस्पिटल में नौकरी कर जिंदगी व्यतीत कर रहा था। ऐसे समय में नौकरी छोड़कर मोबाइल क्लीनिक शुरू करना मुश्किलों से भरा था।

इस समय डॉक्टर सुनील 800 से ज्यादा मेडिकल कैंप लगा चुके हैं। बंगलौर और उसके आसपास के इलाके के एक लाख से ज्यादा मरीजों का फ्री में उपचार कर चुके हैं। स्वास्थ्य के क्षेत्र में अद्वितीय और उत्कृष्ट योगदान के लिए एनजीओ द्वारा साल 2018 में देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने उन्हें अवार्ड से नवाजा है। इस नेक काम के लिए उन्हें कई सारे अवार्ड मिल चुके हैं। कोरोना के तीसरी राहर के बीच डॉक्टर सुनील को पैसे, दवाई और सहयोगियों की आवश्यकता है। डॉक्टर सुनील से उनके कांटेक्ट नंबर +91 97419 58428 पर संपर्क किया जा सकता है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.