Connect with us

BIHAR

पटना को एक और फोरलेन सड़क की सौगात, रेल ट्रैक हटाकर अटल पथ की तरह होगा गंगा पथ का होगा निर्माण

Published

on

अब राजधानी के अटल पथ के तर्ज पर पटना साहिब स्टेशन से लोकनायक जय प्रकाश गंगा पथ तक फोरलेन सड़क बनाया जाएगा। फोरलेन पटना सिटी अशोक राजपथ के ऊपर से गुजरेगी जिसकी लंबाई 1.55 किलोमीटर होगी। घनी आबादी के बीच एक्सप्रेस वे के दोनों तरफ इलाके के बाशिंदों के आवागमन को देखते हुए सर्विस लेन बनाए जाएंगे।

बता दें कि इस एक्सप्रेस-वे को बनाने में बिहार राज्य पथ विकास निगम लगभग 57 करोड़ रुपए की राशि खर्च करेंगी। मार्च में टेंडर की प्रक्रिया इसके लिए पुरा किया जाएगा। पटना साहिब से आने वाले यात्री इस रास्ते से बिना किसी रूकावट के कंगन घाट, दीदारगंज, गाय घाट अथवा दीघा जेपी सेतु पहुंच सकते हैं। गंगा पथ से पटना घाट तक सिक्स लेन सड़क होगी। पटना सिटी की घनी आबादी को देखते हुए फोर लेन के साथ सर्विस लेन बनाया जाएगा। अशोक राजपथ क्रासिंग के निकट ऊपर दो लेन फ्लाईओवर होगा।

प्रतीकात्मक चित्र

काफी समय पूर्व में ही पटना-दीघा तक रेल लाइन की तरह पटना साहिब से पटना घाट रेलवे लाइन थी जो बंद हो चुका है। साल 2017 में गुरु गोविंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व के अवसर पर इसको बनाया जाना था लेकिन रेलवे की ओर से अनापत्ति नहीं मिलने के चलते कार्य प्रभावित रहा। दीघा-आर ब्लाक रेल लाइन को हटाकर अटल पथ का बना दिया गया है अब पटना साहिब – पटना घाट रेल लाइन हटाकर अत्याधुनिक फोरलेन का डीपीआर तैयार हो चुका है।

दीदारगंज से दीघा के बीच रहने वाले लोगों को पटना साहिब स्टेशन जाने के लिए जेपी गंगा पथ से खुला रास्ता मिलेगा। बिदुपुर – कच्ची दरगाह सिक्स लेन गंगा पुल से इस मार्ग को जोड़ दिया जाएगा। कच्ची दरगाह से दीदारगंज तक सिक्स लेन संपर्क पथ का निर्माण भी होना है। गंगा पथ दीदारगंज में खत्म होगा यहां से फतुहा की ओर जाने के लिए पुराने नेशनल हाईवे30 और आरओबी से दीदारगंज- बख्तियारपुर फोर लेन का संपर्क होगा।

पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कहा है कि पटना साहिब स्टेशन से पटना घाट के रास्ते जेपी गंगा पथ जोड़ने का विशेष कारिडोर महत्वाकांक्षी योजना के तहत बनाया जाएगा। पटना सिटी की घनी आबादी के चलते रेलवे लाइन की उपयोगिता खत्म हो गई है। रोड के लिए सरकारी स्तर पर सहमति बन गई है। टेंडर भी हो गया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.