Connect with us

BIHAR

आकांक्षी जिलों में बिहार का खगड़िया पहले पायदान पर, नीति आयोग देगी 10 करोड़ की अतिरिक्त सहायता

Published

on

नीति आयोग के आकांक्षी जिला प्रोग्राम की रैंकिंग में बिहार का खगड़िया अब्बल नंबर पर रहा है। नवंबर, 2021 में परफॉर्मेंस के आधार पर देश भर के आकांक्षी जिलों की लिस्ट जारी हुई है जिसमें खगड़िया पहले पायदान पर है। बेहतर प्रदर्शन के लिहाज से खगड़िया जिले को 10 करोड़ का अतिरिक्त मदद दिया जाएगा। जमुई जिले को दो करोड़ रुपए और पूर्णिया जिले को एक करोड़ रुपए का अतिरिक्त आवंटन नीति आयोग करेगी। बिहार के मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को पत्र लिखकर नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत ने जानकारी साझा की है।

नीति आयोग के पत्र के मुताबिक, बेहतर आर्थिक विकल्प और स्किल डेवलपमेंट के लिए नवादा जिले को 3 करोड़ का अतिरिक्त आवंटन दिया जाएगा। बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए बेगूसराय जिले को 3 करोड़ का अतिरिक्त आवंटन मिलेगा। नीति आयोग ने इन सभी जिलों के कलेक्टर, डीसी, सेंटर प्रभारी ऑफिसर सहित पूरे जिले की टीम को शुभकामनाएं दी है। इसके अलावा अतिरिक्त आवंटन के लिए 30 जनवरी तक प्रस्ताव भेजने की बात कही गई है।

नीति आयोग के इस पत्र को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुंगेर से सांसद राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने ट्विटर पर गुरुवार को लिखा है कि सूबे में सीएम नीतीश कुमार की अगुवाई में केवल खगड़िया ही नहीं बल्कि पूरे राज्य में चौतरफा विकास हो रहा है। प्राकृतिक और आर्थिक रूप से प्रतिकूल परिस्थितियों में भी राज्य की विकास लगातार दो अंकों में है। उन्होंने प्रधानमंत्री से विशेष राज्य के दर्जा दिलाने पर भी ध्यान आकर्षित किया है।

बता दें कि 2018 के जनवरी माह से आकांक्षी जिला कार्यक्रम शुरू हुआ था। इसका मकसद सामाजिक और आर्थिक दृष्टिकोण से पिछड़े जिलों की पहचान कर वहां विकास करना है। केंद्र सरकार के नीति आयोग द्वारा इसका संचालन होता है। इसके अतिरिक्त कई मंत्रालय भी इस योजना में अपनी भूमिका निभा रहे हैं। यह पांच विषयों पर आधारित है जिसमें स्वास्थ्य एवं पोषण, शिक्षा, कृषि एवं जल संसाधन, वित्तीय समावेश एवं कौशल विकास और बुनियादी आधारभूत ढांचे शामिल हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending