Connect with us

BIHAR

बिहार और झारखंड को जोड़ने वाला नेशनल हाईवे-80 का 883 करोड़ की लागत से होगा जीर्णोद्धार

Published

on

दो फेज में बनने वाले मुंगेर-मिर्जाचौकी नेशनल हाईवे-80 के निर्माण को मंजूरी मिल गई है। मार्च महीने से भागलपुर जीरोमाइल से मिर्जाचौकी के बीच निर्माण कार्य शुरू हो रहा है। अरुणाचल प्रदेश की टीटीसी इंफ्रा इंडिया को सड़क निर्माण की जिम्मेदारी सौंपी गई है। सबसे कम रेट पर टेंडर भरने के कारण सड़क बनाने का जिम्मा इस एजेंसी को सौंपा गया है।

वहीं दूसरे फेज में मुंगेर घोरघट-नाथनगर दोगच्छी सड़क निर्माण कार्य शुरू होगा। आज यानी मंगलवार को एजेंसी का चयन होगा। 398.88 करोड़ रुपए की राशि खर्च कर घोरघट (मुंगेर) से दोगच्छी व 484.88 करोड़ के लागत से जीरोमाइल से मिर्जाचौकी के बीच सड़क निर्माण की योजना है। चयन किए गए एजेंसी को 600 दिनों के भीतर निर्माण कार्य पूर्ण करना होगा‌।

प्रतीकात्मक चित्र

दो चरण में निर्माण होने वाले सड़क के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट और निर्माण राशि के लिए 971 करोड़ रुपए की मंजूरी दे चुकी है। सड़क निर्माण में रुकावट पैदा करने वाली बिजली खंभे, चापाकल और जलापूर्ति पाइपों को हटाया जाएगा। इसके लिए 50 करोड़ रुपए खर्च होंगे। 10 मीटर चौड़ी सड़क होगी इसे पीसीसी मोड में बनाया जाएगा।

आवश्यकता के हिसाब से कुछ जगहों में तीन और कुछ जगहों पर फोरलेन सड़क बनाए जाएंगे। पर्यावरण के लिहाज से पौधारोपण भी होना है। कहलगांव और पीरपैंती के बीच टोल प्लाजा बनाया जाएगा। रोजाना इस मार्ग पर 25 से 30 हजार गाड़ियों का आना जाना होता है। मिर्जाचौकी से पूरे बिहार, नेपाल, पश्चिम बंगाल को पत्थर आपूर्ति का यह महत्वपूर्ण मार्ग है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.