Connect with us

BIHAR

बिहार सरकार की पहल, अब इन शहरों में ‘तरकारी मार्ट’ से ऑनलाइन आर्डर कर घर मंगाए सब्जियां

Published

on

ऑनलाइन सब्जी मंगाने के हेतु अब कैश का झंझट नहीं होगा। बेजफेड ने तरकारी मार्ट से सब्जी की खरीदारी करने के हेतु ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा की शुरुवात की जा चुकी हैं। अब आॅर्डर देने वाले पर निर्धारित है कि वह पेटीएम से पेमेंट करेंगे या क्रेडिट कार्ड से।

तरकारी मार्ट ने दो महीने से भी कम वक्त में 12 लाख का कारोबार कराया है। पटना सिटी में ही चार हजार से ज्यादा यूजर हैं। एक लाख अस्सी हजार के तहत ब्यूअर फेसबुक, ट्विटर , इस्ट्रांग्राम आदि के जरिये जुड़े हुए है।

बीते मई महीने में शुरुवात हुई यह सेवा को विस्तार देते सहित दरभंगा और मुजफ्फरपुर में तरकारी मार्ट की शुरुआत कर दिया जा चुका है। और उसके साथ ही अमेजन-फ्लिपकार्ट के तर्ज पर भुगतान के हेतु एप निर्माण किया गया है। लोगों को भुगतान के न्यू विकल्प के जरिए डिलिवर करने वालों को भी राहत मिली हैं। एनडाइड मोबाइल वर्जन पर भी सब्जी के दाम का भुगतान के सभी विकल्प दिये गए है।

अब कोई भी उपभोक्ता www.tarkaarimart.in पर जाकर अपना ऑर्डर के साथ ही ऑनलाइन पेमेंट सकेंगे। नेट बैंकिंग, क्रेडिट कार्ड, डेविड कार्ड और यूपीआइ किसी से भी पेमेंट करवाया जा सकता है।

एमएनसी की तरह होगी पैकिंग
बेजफेड अपनी ब्रांडिंग को और अच्छा बनाने के लिए अब सब्जी की पैकिंग पर ध्यान दे रहें हैं। अब सब्जी की पैकिंग खुली होती है। दुकानदार जिस तरह पॉलीथिन में भरकर सब्जी देते हैं, उसी तरह ही तरकारी मार्ट की सब्जी घरों तक लाई जाती है। हालांकि, तरकारी मार्ट पॉलीथिन की जगह कपड़े के छोटे बैग का इस्तेमाल करता है, यह बैग कमजोर भी होते हैं।

बेजफेड के सीइओ सुभाष कुमार द्वारा बताया गया कि आने वाले दिनों में सब्जी मल्टीनेशनल कंपनियों के उत्पाद की तरह न्यू कलेवर वाली पैकिंग में पहुचाई जाएगी। इसकी तैयारी की जा चुकी है। टेंडर की प्रक्रिया चल रही है।

सब्जी की खराब आपूर्ति होने पर जांच
बेजफेड के सीइओ सुभाष कुमार द्वारा बताया गया कि सब्जी की गुणवत्ता अगर खराब हो तो उसे वापस कर दिया जाएगा। कुछ लोगों ने शिकायत की थी यह मामलो में जांच करायी गयी, तो पता चला कि पानी लगे खेत की सब्जी पहुंचा दी गयी थी़।

इन्ही कारणों को देखने में सब्जी अच्छी थी, पर बितर से खराब थी़ किसानों को गुणवत्ता को लेकर चेतावनी दी जा चुकी है। उपभोक्ताओं से भी अपील की जा चुकी है। कि वे सब्जी लेने के बाद पैकिंग में ही बंद न रखें।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending