Connect with us

MOTIVATIONAL

सादगी के प्रतिमूर्ति है रतन टाटा, उनकी अदा का हर कोई है कायल, इंस्टाग्राम पर साझा करते हैं अपनी पुरानी यादें

Published

on

सबसे कठिन काम होता है मनुष्य सफलता के बुलंदियों पर पहुंच कर भी अपने से जुड़े हर याद को सहेजकर रखे। उस याद से प्यार करे, जिसने उसे जिंदगी के कड़वे-मीठे हर तरह के अनुभव का अहसास करवाया हो। ऐसे ही व्यक्तित्व के मालिक हैं उद्योगपति रतन टाटा। रतन टाटा किसी शब्द के मोहताज नहीं है, उनसे जुड़ी तमाम बातें लोगों के जेहन में जिंदा रहती है।

रटन टाटा ने टाटा ग्रुप के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारई साल 1991 से लेकर 2012 तक संभाली। 28 दिसंबर 2012 को उन्होंने पद छोड़ दिया। फिलहाल वे टाटा ग्रुप के चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं। रतन टाटा की सादगी का हर कोई मुरीद है। उनके इंस्टाग्राम पोस्ट पर सादगी की एक झलक देखने को मिली है जिसे हर कोई तारीफ कर रहा है।

रतन टाटा ने बताया कि जब वे इंस्टाग्राम पर आए थे तब उन्होंने लोगों को यह जानकारी शेयर की थी कि यहां इंटरनेट तोड़ने फोड़ने नहीं, बल्कि वो यहां उत्साहित होकर इसलिए आए हैं क्योंकि वो लोगों के साथ कहानियां साझा करना चाहते हैं।

रतन टाटा अपने पालतू कुत्ते से बेहद लवाग रखते हैं। टिटो उनका एक डॉग था, जो अब नहीं रहा। यह पोस्ट उन्होंने अपने प्यार टिटो के लिए साझा किया था। तस्वीर में वो टिटो के साथ नजर आ रहे हैं।

इस तस्वीर ने लोगों का दिल जीत लिया था। युवा अवस्था की यह तस्वीर लॉस एंजिल्स की है। तब रतन टाटा 25 साल के थे। ज्यादातर लोगों ने फोटो देख अपनी प्रतिक्रिया में लिखा कि वह हॉलीवुड स्टार दिख रहे हैं। बता दें कि रतन टाटा अमेरिका में पढ़ा करते थे कुछ समय काम करने के बाद वह 1962 में भारत लौट आए थे।

रतन टाटा की एक प्रशंसक ने इंस्टाग्राम पर उन्हें ‘छोटू’ कहकर अपनी शुभकामनाएं दी थी। इस प्रतिक्रिया पर यूजर्स महिला पर भड़क उठे और ट्रॉल करने लगे। जब रतन टाटा को इस बारे में जानकारी हुई तब उन्होंने महिला के प्रतिक्रिया का जवाब दिया और उनका समर्थन किया वह यूजर्स को उनके साथ अच्छे से पेश आने की बात कहीं। रतन टाटा ने अपने अंदाज से लोगों का दिल जीत लिया है।

केरल के मल्लापुरम इलाके में एक गर्भवती हथिनी की दर्दनाक मौत से पूरी दुनिया हिल गई थी। कुछ लोगों ने गर्भवती हथिनी को विस्फोटक भरा अनानास खिलाया था जिसके बाद अनानास मुंह में फटा। अपने आप को बचाने के लिए गर्भवती हथिनी तीन दिनों तक वेलियार नदीं में खड़ी रही। इस घटना ने मानवता से लोगों को भरोसा उठा गया था। उद्योगपति रतन टाटा भावुक हुए थे और उन्होंने एक पोस्ट भी लिखी थी।

रतन टाटा ने अपने इंस्टाग्राम पोस्ट पर स्कूल के दिनों की यादें ताजा करते हुए तस्वीर साझा की थी। लोगो ने उनकी फोटो देख अपनी प्रतिक्रिया दी थी। यूजर्स ने रतन टाटा को लेजेंड ऑफ बताया था।

उन्होने इंस्टाग्राम पर अपने गुरु जेआरडी टाटा के साथ एक तस्वीर साझा की थी। इस तस्वीर से उन्होंने उनकी 117वीं जयंती पर उन्हेें याद किया था। टाटा की सादगी और पुराने लोगों को ना भूलने वाली अदा हर किसी को पसंद है। जितनी सादगी उनमें देखनो को मिलती है आज के युग में ना के बराबर..

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.