Connect with us

TECH

पटना के छात्र का कमाल, दो हज़ार में बनाया स्मार्ट डिवाइस, मोबाइल से चला सकेंगे घर के बिजली उपकरण

Published

on

बिहार के होनहार छात्र ने एक अनोखा डिवाइस तैयार किया है। इस डिवाइस के बाद मदद‌ से अपने स्मार्टफोन से ही घर की बिजली कनेक्शन को पूरी तरह बंद कर सकते हैं। पटना के नूर सराय इलाके के अल्फा इंटरनेशनल स्कूल के बारहवीं कक्षा के छात्र अनिल आलोक ने इस डिवाइस को बनाया है। महज एक छोटी सी डिवाइस से ही घर की बिजली कनेक्शन को पूरी तरह बंद किया जा सकता है। घर का पंखा या बॉल का स्विच ऑन करके अगर आप घर से बाहर भी निकल जाते हैं, तो अब परेशान होने की जरूरत नहीं है।

अनिल आलोक ने दैनिक भास्कर से बातचीत में बताया कि आज के युग में सब कुछ स्मार्ट हो रहा है। मोबाइल से कमांड होने वाले डिवाइस बनाए जा रहे हैं। अनिल बताते हैं कि गूगल व अन्य कंपनियों के डिवाइस से वायस के माध्यम से कमांड किया जा सकता है। उनके दिमाग में एक ऐसा आईडिया आया जिसे डिवाइस बनाया जाए जिससे कहीं से भी मोबाइल के जरिए इलेक्ट्रिक उपकरणों को कमांड किया जा सके। फिर उन्होंने डिवाइस को तैयार कर लिया। इसमें एक मदर बोर्ड बनाया गया और हर डिवाइस के लिए रिले दिया गया है।

Pic- Dainik bhaskar

अनिल ने बताया कि 2 हजार रुपए की लागत से इस डिवाइस को तैयार किया गया है। इससे 16 इलेक्ट्रिक उपकरण को कमांड किया जा सकता है। दो कमरे को डिवाइस से स्मार्ट बनाया जा सकता है। इसमें एक मदर बोर्ड लगाया गया है जिसे इंटरनेट के वाईफाई से कनेक्ट किया गया है। मॉडल में अनिल ने हर कमरे का अलग डिस्प्ले किया है। अनिल आलोक कहते हैं कि पूरा सिस्टम डाटा के कमांड पर काम करता है। हर कमरे में लगे बल्ब, पंखा और अन्य उपकरण के लिए अलग-अलग डाटा का कमांड दिया जाता है।

इस डिवाइस की सबसे बड़ी खासियत है कि किसी भी जगह से अपने स्मार्टफोन के जरिए तापमान भी चेक कर सकते हैं। घर में ह्यूमिडिटी कितनी है, यह भी चेक हो जाएगा। अनिल कहते हैं कि 2 हजार रुपए की लागत से इस डिवाइस में 16 एप्लायंस को कमांड दी जा सकती है। इसके रख-रखाव पर कोई खर्च नहीं होता है। डिवाइस इतना सूक्ष्म है कि एमसीबी की तरह कहीं भी फिट किया जा सकता है।

अनिल ने बताया कि सिस्टम को बनाने के लिए सी प्रोग्रामिंग कर माइक्रो कंट्रोलर की मदद लेनी पड़ी है। डाटा सेव रखने के लिए एचटीएमएल, सीएसएस का यूज कर एक वेब सर्वर बनाया गया है। अनिल एक ऐप बनाने की तैयारी में जुटे हुए हैं। एप की सहायता से लॉगिन आईडी मिलेगा जिसके जरिए सब कुछ ऑपरेट हो सकेगा।

Source- Dainik Bhaskar

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending