Connect with us

BIHAR

नए साल में रेलवे खंड से जुड़ेगा मिथिलांचल और सीमांचल, लाखों लोगों को होगा फायदा

Published

on

रेलवे लाइन से मिथिलांचल और सीमांचल जुड़ने जा रही है। दरभंगा से होते हुए सकरी, झंझारपुर, निर्मली होते हुए सहरसा तक आने वाले कुछ समय में ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा। रेलवे डिपार्टमेंट इस रूट पर रेलवे परिचालन की कवायद में जुटी हुई है। सब कुछ ठीक रहा तो अप्रैल 2022 से मिथिलांचल और सीमांचल रेलवे खंड से जुड़ जाएगा। बता दें कि फिलहाल दरभंगा से झंझारपुर और सहरसा से कुपहा तक रेलवे चल रही है। बीते दिनों सर्वेक्षण किया गया है जिसके बाद संभावना जताई जा रही है कि जल्द ही सहरसा से निर्मली तक रेलवे पटरी पर दौड़ती नजर आएगी। नए साल के पहले ही महीने से शुरू होने की उम्मीद है।

विभागीय अभियंताओं के मुताबिक तमुरिया और निर्मली के बीच स्टेशन भवन, ट्रैक बिछाने से लेकर संबंधित कार्य लगभग पूरे हो चुके हैं। रेलवे लाइन की वास्तविक स्थिति जानने के लिए लगातार ट्रेन का ट्रायल हो रहा है। तमुरिया से निर्मली तक सीआरएस समीक्षा के बाद किसी भी समय इस रेलवे रूट पर दरभंगा से सहरसा तक रेलवे परिचालन को हरी झंडी मिल सकती है। सीआरएस एएम चौधरी बताते हैं कि अप्रैल 2022 में निर्मली से झंझारपुर, सकरी होते हुए दरभंगा तक रेलवे सेवा शुरू होने की उम्मीद है।

बता दें कि इस रेलवे रूट पर ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाने के बाद सालों बाद मिथिलांचल और सीमांचल से डायरेक्ट संपर्क हो जाएगा और इसका फायदा लाखों लोगों को मिलने वाला है। गौरतलब हो कि मिथिलांचल को सीमांचल से जोड़ने वाला यह रेलखंड 1934 से बंद है। इस रेलखंड को पुनः चालू करने के लिए 2012 में आमान परिवर्तन शुरू किया गया था। लगभग एक दशक से इस रेलखंड पर कार्य चल रहा है। वर्तमान समय में दरभंगा से झंझारपुर तक ही एक जोड़ी सवारी गाड़ी चलती है जिससे इलाके के लोग दूरदराज की यात्रा से छूट जाते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.