Connect with us

BIHAR

बिहार के गोपालगंज और पूर्वी चंपारण के बीच डुमरिया पुल का निकला टेंडर, 18 महीने में बनकर होगा तैयार

Published

on

देश में पूर्व से पश्चिम की ओर गुजरने वाली लाइफ लाइन (ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर) के उत्तर बिहार से होकर गुजरने वाले ‘बॉटल नेक’ 800 मीटर लंबा नए डुमरिया पुल निर्माण को लेकर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने टेंडर जारी कर दिया है। गोपालगंज और पूर्वी चंपारण जिला के मध्य गंडक नदी पर पांच दशक पूर्व बना दो लेन पुराना यह डुमरिया पुल है जिसे मालवाहक गाड़ी धीरे धीरे-धीरे होकर गुजरते हैं।

एजेंसियों के टेंडर के लिए नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने 29 जनवरी तक का समय दिया है। 31 जनवरी को टेक्निकल बीड खुलेगा। टेंडर के निर्धारित शर्तों के अनुसार नए पुल को 18 महीने के अंदर बनाने का लक्ष्य रखा गया है। वही पांच दशक पुराने टू लेन पुल की मरम्मत भी की जाएगी। दोनों के निर्माण कार्यों की लागत पर 165.76 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी।

बता दें कि यह हाईवे बिहार के पश्चिमी छोर गोपालगंज से पूर्वी छोर किशनगंज को जोड़ने के साथ ही देश के पश्चिमी हिस्से गुजरात के पोरबंदर से पूर्वी से असम-अरुणाचल के सिल्चर तक कुल 3300 किलोमीटर लंबा है जो कई राज्यों से होकर गुजरता है। विशेषकर पूर्वोत्तर भारत के 8 राज्यों के लिए यह कोरिडोर मुख्य भूमिका अदा करता है। साल 2005 में ही शुरू इस महत्वाकांक्षी परियोजना ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर साल 2015 तक बिहार में पूरा कर लिया गया था लेकिन डुमरिया पुल का निर्माण अभी तक नहीं हो सका है। जिसके कारण 88 करोड़ रुपए की लागत वाले इस पुल पर अब 166 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending