Connect with us

BIHAR

बिहार का होगा चौमुखी विकास, सीएम की अध्यक्षता में लिए गए 13 बड़े फैसले, इन योजनाओं को मिली मंजूरी

Published

on

बीते दिन मंगलवार को बाल्मीकि नगर में बिहार कैबिनेट की बैठक में 13 महत्वपूर्ण फैसलों पर हरी झंडी मिल गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में आधारभूत संरचनाओं को मजबूत करने पर जोर दिया गया। उत्क्रमित प्लस 2 विद्यालयों की आधारभूत संरचना के विकास के लिए 800 करोड रुपए की स्वीकृति दी गई। शहरी क्षेत्र के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में आगामी 5 सालों में वेलनेस सेंटर और डायग्नोस्टिक इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए 1214 करोड़ रुपए पर मुहर लग गई है‌।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना से बाहर चौथी बार जबकि बाल्मीकि नगर में पहली बार कैबिनेट की बैठक कर रहे थे। बैठक तकरीबन डेढ़ घंटे चली। विकास के विभिन्न मुद्दों पर विचार विमर्श हुआ। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा अंजुमन इस्लामिया हॉल के पुनर्निर्माण के लिए प्रस्तावित 5 करोड़ 64 लाख के प्रस्ताव को मंजूरी मिली। बरौनी में सॉफ्ट ड्रिंक और जूस प्रोसेसिंग के लिए प्राइवेट कंपनी के 278 करोड़ रुपए निवेश को भी स्वीकृति मिली। विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया कि इसके शुरू होने से 550 कुशल कारीगरों को डायरेक्ट रोजगार मिलेगा।

पशुचारा बनाने वाली प्राइवेट कंपनी को भोजपुर में एथेनॉल उत्पादन के लिए 168 करोड़ के निवेश पर मुहर लगी। नगर विकास विभाग की ओर से प्रस्तावित बिहार नगर पालिका नगर योजना पर्यवेक्षक संवर्ग संशोधन नियमावली 2021 के गठन को मंजूरी मिली। मत्स्य पालन के लिए आधारभूत संरचना तैयार करने के उद्देश्य से पशु एवं मत्स्य पालन विभाग द्वारा प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत 40 करोड़ 76 लाख की योजना को कैबिनेट में हरी झंडी मिल गई है। सूबे के सभी जिलों में पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग के 520 स्कूलों के संचालन और भवन निर्माण के लिए 37 करोड़ 89 लाख रुपए की योजना पर सहमति बनी।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending