Connect with us

TECH

पेट्रोल-डीजल कार को इलेक्ट्रिक कार में बदलने का ये है तरीका, आएगा इतना खर्च

Published

on

देश में पेट्रोल और डीजल के बढ़ती कीमतों से आमजन बेहद परेशान हैं। ऐसे में इलेक्ट्रिक गाड़ियों की मांग तेजी से बढ़ गई है। लेकिन पेट्रोल डीजल के मुकाबले इलेक्ट्रिक गाड़ियों की कीमत काफी ज्यादा है। अगर आप इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदने में असमर्थ है तो आपके लिए अच्छी खबर है। अपनी पुरानी पेट्रोल-डीजल कार को ही इलेक्ट्रिक गाड़ियों में बदल सकते हैं। बाजार में कई ऐसी कंपनियां मौजूद है जो यह काम कर रही है।

सिंपल गाड़ियों को इलेक्ट्रिक कार में बदलने के लिए 4 से 5 लाख रुपए का खर्च गिरता है। गाड़ी में कितने वॉट पावर की मोटर और कितनी क्षमता की बैटरी लगी है, इसी अनुसार पैसे खर्च होते हैं। ज्यादातर हैदराबाद की कंपनियां यह काम करती है। जो इलेक्ट्रिक कारों के पार्ट बनाती है वही कंपनियां यह काम करती है। मोटर, कंट्रोलर, रोलर और बैटरी के इस्तेमाल से नॉर्मल कार को इलेक्ट्रिक कार में बदला जाता है। 20 किलोवॉट की इलेक्ट्रिक मोटर और 12 किलोवॉट की लीथियम आयन बैटरी पर 4 लाख रुपए का खर्च आता है।

उदाहरण के तौर पर Tata Nexon पेट्रोल और डीजल में 16 से 22 किलोमीटर तक का दूरी तय करती है। पेट्रोल की कीमत 100 रुपये प्रति लीटर से भी ज्यादा है। इस हिसाब से जोड़ने पर प्रति किलोमीटर 6.25 पैसे खर्च होंगे। वहीं Tata Nexon EV की बात करें तो यह 30.2 यूनिट बिजली में फुल चार्ज हो जाता है। 6 रुपये/यूनिट बिजली की दर से 181.2 रुपए खर्च होंगे और यह 300 किमी चलेगा। प्रति किलोमीटर का खर्च करीब 60 पैसे ही होगा।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.