Connect with us

NATIONAL

भारतीय मूल के पराग अग्रवाल बने ट्विटर के सीईओ, IIT बॉम्बे से कर चुके हैं पढ़ाई

Published

on

माइक्रो ब्लागिंग प्लेटफार्म साइट ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के पद से जैक डार्सी ने इस्तीफा दे दिया है। भारत के पराग अग्रवाल ट्विटर के नए सीईओ पद की जिम्मेदारी संभालेंगे। पराग आईआईटी बॉम्बे के छात्र रहे हैं। स्टेनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में डॉक्टरेट की डिग्री हासिल कर चुके हैं। पराग 2011 से ट्विटर में सेवा दे रहे हैं उस समय कंपनी में मात्र एक हजार एम्प्लॉय काम करते थे। पराग ने 2017 में कंपनी के सीटीओ (चीफ़ टेक्नोलाजी आफिसर) बने थे।

भारतीय मूल के बाद ट्विटर में काम करने से पहले एटीएंडटी लैब्स, माइक्रोसाफ्ट और याहू में अपनी सेवा दे चुके हैं। बता दें कि विश्व के अधिकतर ग्लोबल टेक्नोलाजी कंपनी के सीईओ पद की कमान भारतीय संभाल रहे हैं। गुगल के सीईओ सुंदर पिचाई हैं वहीं माइक्रोसाफ्ट के सीईओ पद की कमान सत्य नडेला संभाल रहे हैं। मीडिया न्यूज कंपनी पीटीआई की रिपोर्ट्स के मुताबिक जैक डार्सी 2022 तक वह कंपनी के बोर्ड में बने रहेंगे। फो‌र्ब्स मैग्जीन के मुताबिक 29 नवंबर को उनकी कुल संपत्ति 11.8 अरब डालर थी।

45 साल के जैक डार्सी ने ट्वीट करके खुद अपने इस्तीफे की जानकारी दी है। उन्होंने लिखा है कि कंपनी के सह संस्थापक से सीईओ तक की भूमिका निभाने के लगभग 16 वर्ष बाद मैंने फैसला किया है कि आखिरकार मेरे जाने का समय आ गया है। पराग अग्रवाल हमारे अगले सीईओ होंगे। डार्सी ने पराग की प्रसंशा में कहा कि सीईओ के तौर पर मेरा उनमें गहरा विश्वास है। पिछले 10 सालों में उन्होंने शानदार काम किया है। अब उनके नेतृत्व करने का समय है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.