Connect with us

BIHAR

बिहार में गंगा नदी पर 18 नए पुलों का निर्माण जारी, प्रत्येक 40 किमी पर पुल बनाने की है योजना

Published

on

बिहार में 10 लेन के सिर्फ 4 पुल थे वहीं आज 18 नए पुलों का निर्माण कार्य युद्ध स्तर पर जारी है। पथ निर्माण विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक राज्य में गंगा नदी के ऊपर हर 40 किलोमीटर पर एक नए पुल बनाने की योजना है। गंगा नदी के ऊपर 12 पुल बनाने को लेकर मंजूरी भी मिल चुकी है। जेपी पुल के ठीक पास में नया फोरलेन ब्रिज बनाने को हरी झंडी मिल गई है। साल 2024 तक महात्मा गांधी सेतु के दोनों लेने का निर्माण हो जाएगा जो 100 सालों के लिए ट्रैफिक प्लान के तहत बनाया जा रहा है।

इसी सप्ताह ही पीएम मोदी ने यूपी के सबसे बड़े पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन किया था जिसके बाद से ही विपक्षी पार्टी लगातार सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साध रही है। जमुई से सांसद और लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा था कि बिहार में इस तरह की रोड के लिए नीतीश कुमार को कितने और साल का कार्यकाल चाहिए? इसका जवाब देते हुए पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि बीते 1 साल में केंद्र सरकार ने बिहार को 52000 करोड़ रुपए की राशि उपलब्ध कराई है। 6 से 8 सड़कें बनी हैं। नगरीय क्षेत्र के विस्तार का भी काम हुआ रोजगार का सृजन भी राज्य में कई विभिन्न क्षेत्रों में हुआ है।

नितिन नवीन ने कहा कि दरभंगा-आमस पथ का भी टेंडर जारी हो गया है।आमस-दरभंगा पथ का काम शुरू हो जाएगा तो पूरी सिक्स लेन कनेक्टिविटी होगी। पटना से कोलकाता जाने के लिए पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के तर्ज पर ही पटना-कोलकाता एक्सप्रेस वे का निर्माण होगा। उन्होंने कहा कि 100 सालों के ट्रैफिक प्लान के साथ साल 2024 में गांधी सेतु का निर्माण कार्य पूरा हो रहा है। मोटरसाइकिल और साइकिल से यात्रा करने वाले लोगों के लिए पुल पर अलग से व्यवस्था हो रही है। पुल के स्पेन में केबलिंग की भी व्यवस्था की गई है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Trending