Connect with us

BIHAR

बिहार के दो छात्रों का कमाल, 12500 फीट पर लहराया तिरंगा, कहा- हर ऊंचाई तक फहराना चाहते हैं तिरंगा

Published

on

बिहार के छात्रों ने एक बार फिर कमाल किया है। पटना यूनिवर्सिटी (पीयू) के चार छात्रों ने माउंटेन क्लाइंबिंग के क्षेत्र में अपना जलवा बिखेरा है। पीयू के छात्र आयुष सुमन टीम को लीड कर रहे थे। उत्तराखंड की ऊंची चोटियों में से एक केदारकंठा ट्रेक पर इन छात्रों ने भारत का तिरंगा लहराया है। सर्वोच्च शिखर के सबसे ऊंची चोटी 12500 फीट की ऊंचाई पर चढ़कर इन छात्रों ने तिरंगा लहराया है।

सबसे छोटी पर तिरंगा लहराने में चारों छात्रों को 4 दिन का समय लग गया। टीम को लीड कर रहे थे आयुष सुमन और उनके साथ गौरव, आरके शुक्ला और टीम गाइड गोपीचंद थे। आयुष और गौरव पटना यूनिवर्सिटी के पटना कॉलेज में मनोविज्ञान के तीसरे विषय के स्टूडेंट है। वहीं आरके शुक्ला, वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी आरा के तीसरे वर्ष के छात्र हैं।

Pic- Bhaskar

12500 फीट की ऊंचाई पर तिरंगा लहराने के बाद गौरव ने बताया कि ट्रेक देहरादून से 200 किलोमीटर दूर एक संकरे गांव से शुरू होता है। यह यात्रा बेहद मुश्किलों से भरा रहा। 3 दिन तो जंगल में टेंट बनाकर ही गुजारने पड़े। दुर्गम पहाड़ियों के बीच स्लीप करने वाली बर्फ थी जिससे खाई में नीचे जाने का खतरा बना रहता था। दैनिक भास्कर से बातचीत में आयुष और गौरव ने बताया कि 12500 की ऊंचाई को हासिल करने पर बेहद खुश हैं। उन्होंने कहा कि हम आगे भी माउंटेन क्लाइंबिंग के माध्यम से भारत का तिरंगा हर ऊंचाई तक लहराना चाहते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.