Connect with us

BIHAR

पटना का पहला अंडरपास हुआ शुरू, जाने बेली रोड में कहां बन रहा दूसरा अंडरपास, मिलेगी जाम से मुक्ति

Published

on

आखिरकार लंबे अरसे बाद राजधानी पटना के नेहरू मार्ग में ललित भवन के निकट बने अंडरपास से गाड़ियां दौड़ने लगी। जाम की समस्या से मुक्ति पाने के लिए और गाड़ियों के आवागमन को सुलभ बनाने के लिए नेहरू मार्ग पर साल 2015-16 में ही लोहिया पथ योजना पर काम शुरू हुआ था। निर्माण कार्य 5 साल में पूरा करने का लक्ष्य था लेकिन समय से पहले ही बनकर पूरी तरह तैयार हो चुका है। पुल निर्माण निगम के अधिकारियों ने बताया कि रविवार की रात से नेहरू मार्ग स्थित लोहिया पथचक्र के अंडरपास और सर्विस लेन से वाहनों पर परिचालन शुरू हो गया है। 30 नवंबर को पहले चरण का काम पूरा हो जाएगा। आमलोगों के लिए समर्पित कर दिया जाएगा।

आईआईटी दिल्ली की टीम ने लोहिया पथ चक्र को डिजाइन किया है इसके निर्माण में तकरीबन 400 करोड़ रुपए की राशि खर्च हुई है। शुरू के दिनों में निर्माण कार्य में कुछ अड़चनें आईं थी लेकिन पुल निर्माण निगम और आईआईटी दिल्ली के इंजीनियरों को सहयोग ने पथ चक्र के पहले चरण का काम पूरा कर लिया है। दूसरे फेज के तहत हड़ताली मोड़ के पास बनने वाले अंडरपास का निर्माण कार्य तेज हो गया है। निर्माण पूरा होने के बाद यह अंडरपास बोरिंग कैनल रोड को दरोगा पथ से जोड़ेगा। इस अंडरपास के निर्माण का डिजाइन आईआईटी रुड़की के इंजीनियरों के द्वारा किया गया है।

लोहिया पथ चक्र के बनने से सीएम हाउस, राज्यपाल भवन या सचिवालय की ओर से आने वाले गाड़ियां नेहरू मार्ग से होकर गुजरेगी। वीआईपी लोगों के आगमन के समय नेहरू मार्ग पर पहले आम लोगों को जाम का सामना करना पड़ता था लेकिन अब अंडर ग्राउंड बनने से उन्हें इस से मुक्ति मिलेगी। सगुना मोड़ से डाकबंगला की ओर आने वाले गाड़ियां के लिए लोहिया पथ चक्र के पास दो रास्ते होंगे। एक रास्ता ब्रिज के ऊपर से होकर गुजरता है तो दूसरा सर्विस लेन है। ‌डाकबंगला से सगुना मोड़ की ओर जाने वाली गाड़ियां ब्रिज के माध्यम से सीधे निकल जाएगी जबकि सीएम हाउस और राज्यपाल भवन जाने वाली गाड़ियां सर्विस लेन से निकल जाएंगे।

पटना के जिला अधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि शहर के आवागमन को बेहतर बनाने के लिए योजनाओं को निर्धारित समय से पहले पूरा करने के लिए नियमित निगरानी की जा रही है। लोहिया पथचक्र से नेहरू मार्ग पर एक ओर जहां जाम की समस्या खत्म हो जाएगी, वहीं गाड़ियों का परिचालन सुलभ होगा। यह कार्य समय से पूरा कर लिया गया है। पटना में संचालित अन्य विकास योजनाएं भी समय पर पूरी हो जाए, इसके लिए कोशिश जारी है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.