Connect with us

MOTIVATIONAL

प्रचलित हो गई “MA इंग्लिश चाय वाली” दुकान, लोग दूर से आ रहे मिलने

Published

on

सफलता किसी भी व्यक्ति को उसके वविरासत में नहीं मिलती है। इसे पाने के लिए हमे दृढ़संकल्प और दृढ़शक्ति के साथ कठोर परिश्रम करना पड़ता है। यदि आप चाहें तो अपनी कठिन परिश्रम के बल पर आप अपनी किस्मत लिख सकते हैं।

हम आज आपको एक ऐसी ही लड़की की कहानी बताएँगे जो बहुत ही निर्धन परिवार से आती है। परंतु आज वे अपनी चाय के दुकान से इतनी प्रचलित हो गई है कि उसकी दुकान पर लोग भीड़ लगाए खड़े रहते है।

गरीबी में हुई परवरिश

इस लड़की का नाम टुकटुकी दास (Tuktuki Das) है। टुकटुकी का जन्म बहुत ही निर्धन परिवार में हुआ। उनके अभिभावक ने उन्हें बचपन की अवस्था में सिखाया था कि यदि तुम परिश्रम करोगी और शिक्षा प्राप्त करोगी तो सफलता जरूर मिलेगी और तुम एक शिक्षिका जरूर ही बनोगी।

कठोर परिश्रम के पश्चात भी नहीं हुई कामयाब

टुकटुकी ने इस बात को ही अपना लक्ष्य बना लिया और मेहनत कर अध्ययन की। उन्होंने इंग्लिश से एमबीए (MBA) की डिग्री प्राप्त की। लेकिन इतने परिश्रम करने के पश्चात भी टुकटुकी को कोई जॉब नहीं हासिल हो पाई। इतने कठिन परिश्रम के बाद भी जब उन्हें जॉब नहीं मिली तो उन्होंने हार नहीं मानते हुए पुनः निरंतर अपना प्रयास जारी रखा।

फिर खोली चाय की दुकान

टुकटुकी दास ( Tuktuki Das ) ने जॉब पाने के लिए बहुत कोशिश किया, लेकिन वे इसमें भी असफल हुई। पुनः उन्होंने लक्ष्य बनाया कि वे एक चाय के स्टॉल खोलेंगी। अन्ततः उन्होंने एक चाय की शॉप खोली। टुकटुकी दास (Tuktuki Das) की 24 परगन हावड़ा स्टेशन के नजदीक ही एक चाय की शॉप है। टुकटुकी अपने दुकान पर M.A. अंग्रेजी चाय वाली (MA English Chaiwali) लिखकर पोस्टर लगाया है।

आ रहें है अच्छे रिश्ते भी

टुकटुकी दास (Tuktuki Das) का एक Youtube पर चैनल भी है और जहाँ उनके वीडियो भी हैं। टुकटुकी के कई वीडियो को बहुत से लोगों ने देखा है और साझा भी किया जिससे कि वह वायरल हो चुका है। आज टुकटुकी के लिए लोग रिश्ते लेकर भी पहुँच रहे हैं और कुछ लोग मिलने के लिए भी आते हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.