Connect with us

BIHAR

बिहार के लाल प्रतीक ने लागातार 61 घंटे गाया गजल, इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज

Published

on

बिहार के लाल प्रतीक सिंह ने गजल गायकी में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। लगातार 61 घंटे तक गजल गायन करने वाले प्रतीक सिंह ने अनोखा रिकॉर्ड कायम करते हुए इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपनी नाम दर्ज करा ली है। प्रतीक सिंह बिहार के खगड़िया के गंगा किनारे के माधवपुर गांव से आते हैं। जिले के श्री कृष्ण विद्यालय नयागांव के सभागार में बिना थके हुए लगातार 61 घंटे तक इस युवा गायक की चर्चा चारों ओर रही है।‌

इंडिया बुक आफ रिकार्ड के बिहार चैप्टर के निर्णायक धर्मेंद्रनाथ ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा है कि वे श्रीकृष्ण इंटर विद्यालय के सभागार में गजल गायन के दौरान शुरू से लेकर अंतिम तक मौजूद रहें। उन्होंने बताया कि कोई भी गजल दुबारा नहीं गाई गई। प्रतीक 5 नवंबर की शाम 4 बजे से बैठे और आठ नवंबर की सुबह पांच बजे तक गाते रहे। इस दौरान प्रतिक ने 61 घंटे में 427 गजल प्रस्तुत किए। जिसके बाद उनका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज हो गया।

शानदार आवाज के मलिक प्रतीक कहते हैं कि इंडिया बुक आफ रिकार्ड का यह नया रिकार्ड बना है। वे गजल गायिकी को नया आयाम देना चाहते हैं मौके पर मौजूद धर्मेंद्रनाथ ने कहा कि गांवों में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। मंच मिले तो अब अपनी जलवा का जौहर दिखाएंगे। प्रतीक की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि प्रतीक की आवाज मखमली है। गजल गायिकी हुनर है। वे आगे और अच्छा करेंगे। कार्यक्रम के खत्म होते ही प्रतीक को मैडल एवं प्रशस्तिपत्र देकर नवाजा गया।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.