Connect with us

MOTIVATIONAL

बिहार के चंपारण से BPSC परीक्षा में जूली कुमारी ने लगाई हैट्रिक, जानें नौकरी के साथ कैसे की तैयारी

Published

on

बिहार राज्य के पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया शहर की मूल निवासी जूली कुमारी ने बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा निरंतर तृतीय प्रयास में पास कर बेहतरीन उदाहरण कायम की है। बीते दिनों घोषित BPSC 65वीं एग्जाम के परिणाम में 29 साल की जूली ने 30वां स्थान हासिल की है। जुली द्वारा प्राप्त की गई सफलता के पश्चात जूली को ADM का पदभार मिलेगा। वर्तमान में जूली मोतिहारी में श्रम प्रर्वतन में अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं। जुली 3 बार से निरंतर BPSC की परीक्षा देती आ रही हैं और तीनों बार ही उन्होंने सफलता प्राप्त हुई है। 

आपको बता दें कि जूली ने बेतिया के सरस्वती शिशु विद्या मंदिर विद्यालय से 10वीं की शिक्षा प्राप्त की है। साल 2015 में कंप्यूटर साइंस से स्नातक करने के पश्चात उन्होंने BPSC की तैयारी की। BPSC 63वीं जुली का पहला प्रयास था जिसमें उनकी 754वीं स्थान प्राप्त की। जुली साल 2020 में मोतिहारी में श्रम प्रर्वतन अधिकारी के पद पर नियुक्त हुईं। जिसके पश्चात BPSC 64वीं में भी उन्होंने सफलता हासिल की और उन्हें राजस्व अधिकारी की नौकरी मिली। BPSC 65वीं रिजल्ट घोषित होने तक वें नियुक्ति का इंतजार कर रही थीं।

बिहार के पश्चिमी चपारण जिले के लेबर सुपरिटेंडेंट राकेश रंजन का कहना है कि जूली के कार्यों को हर तरफ सराहा जाता है। जुली को प्रशासनिक क्षेत्र में एक जूझारू और कर्तव्यनिष्ठ अधिकारी के रूप में जाना जाता है। 

तो वही अपनी तैयारी को लेकर जूली ने बताया कि, ‘मेरी यह सफलता निरंतर कोशिश और मेहनत का परिणाम है। सफलता एक नियोजित प्रयास होता है। मेरा चयन इस बार प्रशासनिक सेवा में हुआ है। नौकरी के साथ ही मैं तैयारी करती रही। अर्थात निरंतरता से ही सफलता मिली।’ जुली की इस सफलता से पूरे चंपारण एवं बेतिया वासियों काफी गौरवान्वित है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.