Connect with us

STORY

एक 65 वर्ष के किसान ने 3,000 से अधिक औषधीय पौधों लगा चुके है, पीएम मोदी भी कर चुके हैं तारीफ

Published

on

3,000 से भी अधिक औषधीय पौधे लगाने वाला यह किसान सुर्खियां बटोर रहा है। ओडिशा के कालाहांडी जिले से आने वालें पटायत साहू 65 वर्ष के हैं। 1.5 एकड़ की भूमि में तीन हजार से अधिक औषधीय पौधे लगा चुके हैं। पीएम नरेंद्र मोदी भी इनकी तारीफ कर चुके हैं। औषधीय पौधों को उगाने के लिए साहू ने रासायनिक खाद के बजाय जैविक खाद का इस्तेमाल करते हैं। साहू आसपास के इलाके के लोगों को औषधीय पौधों के माध्यम से बीमारियों का उपचार कर रहे हैं।

औषधीय पौधे लगाने में साहू की दिलचस्पी बचपन से ही रही है। साहू बताते हैं, उनके दादा एक आयुर्वेदिक चिकित्सक थे। पढ़ाई पूरा करते ही साहू ने दादा से ही आयुर्वेदिक चिकित्सा की पद्धति सीखी और बारीकी से इसका अध्ययन किया। साहू ने अपने पास पारंपरिक चिकित्सा पद्धति और औषधीय पौधों से जुड़ी कई पांडुलिपियां भी रखी है।

तकरीबन 40 साल पहले साहू ने अपने घर के बगल में खाली जमीन पर औषधीय पौधों की खेती शुरू कर दी थी। नई-नई प्रजातियों के पौधों को उगाते रहे, दिन में किसान तो रात में वैद्य के रूप में साहू ने अपने आप को प्रस्तुत किया। साहू लोगों का निशुल्क इलाज करते हैं, जो लोग अपनी इच्छा से पैसे देते हैं। उन्हें स्वीकार कर साहू औषधीय पौधों की खेती में लगाते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी साहू की तारीफ कर चुके हैं। मन के कार्यक्रम में देशवासियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, कोरोना महामारी के समय स्वास्थ्य और कल्याण के बारे में जिज्ञासा में वृद्धि हुई है। वहीं हमारे देश में स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद प्राकृतिक उत्पाद भी बहुतायत में उपलब्ध है। इस दिशा में पटायत साहू अद्वितीय काम कर रहे हैं

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.