Connect with us

MOTIVATIONAL

सुचितर शर्मा ग्रेजुएशन के साथ पहले ही प्रयास में UPSC क्रैक कर बने सबसे कम उम्र के IAS

Published

on

यूपीएससी के नतीजे घोषित हो चुके हैं। 761 उम्मीदवारों को सफलता मिली है। कई ऐसे उम्मीदवार भी है, जिन्होंने कम उम्र में सफलता के झंडे गाड़ दिए हैं। ऐसा ही शानदार सफर भारत-पाकिस्तान बॉर्डर के सुचितर शर्मा की रही है। ग्रेजुएशन के छह दिन बाद ही यूपीएससी क्रेक कर आईएएस बनने वाले सुचितर ने कम उम्र में ही कामयाबी पाई है।

भारत पाकिस्तान सीमावर्ती क्षेत्र जम्मू जिले के सालेहर से सुचितर शर्मा आते हैं। पिता मदनलाल शर्मा और माता रितु मल्होत्रा दोनों ही पेशे से शिक्षक है। 94.8 प्रतिशत अंकों के साथ आर्मी स्कूल से पास आउट सुचितर इसी वर्ष बॉटनी, जूलॉजी, और जियोलॉजी विषय से जम्मू के जीजीएम विज्ञान कॉलेज से ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी की है।

ग्रेजुएशन के दौरान ही सुचितर सिविल सर्विसेज की तैयारी करते रहें। यूपीएससी की परीक्षा दी और साल 2020 के घोषित नतीजे में 146वीं रैंक के साथ सुचितर ने कामयाबी के झंडे गाड़ दिए। सुचितर की कामयाबी इसलिए भी खास है, क्योंकि 28 सितंबर को ग्रेजुएशन के अंतिम परीक्षा थी। छह दिन बाद यानी 4 अक्टूबर को यूपीएससी की परीक्षा दी और 21-22 साल के उम्र में ही पहले प्रयास में यूपीएससी क्रैक कर उन्होंने यह बड़ी उपलब्धि हासिल की।

सुचितर बताते हैं, मैंने 12वीं के बाद ही सिविल सर्विसेज की तैयारी करने की ठान ली थी। कजिन सिस्टर प्रयासी शर्मा आईएएस है, इनसे भी गाइडेंस मिलता रहा। इस सफलता से उनका परिवार बेहद खुश है, जम्मू के उपमुख्यमंत्री ने भी सुचितर को बधाई दी है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.