Connect with us

RELIGIOUS

ऐसा शिवलिंग जहाँ है 1 करोड़ शिवलिंग और 108 फ़ीट लम्बी मूर्ति, ऐसा दूसरा मन्दिर भारत मे नही

Published

on

आज के व्यस्तता भरे जीवन में भी शिव भक्तों की भक्ति कम नहीं हुआ है। इस बात का प्रमाण महाशिवरात्री के दिन भक्तों की उमड़ी भीड़ से लगाई जा सकती है। आज भी भोले शंकर अपने भक्तों के लिए सबसे प्रिय बने हुए हैं। ब्रम्हा, विष्णु और महेश यानि भोले शंकर को ब्रम्हांड के निर्माता और पालनहार के रूप में पूजा जाता है। : Sri kotilingeshwar temple in South India where there are one crore shivling and 108 feet long shivling

कोतिलिंगेश्वारा स्वामी मंदिर में मौजूद है 1 करोड़ शिवलिंग

भगवान शिव जो हर दिशा में पूजनीय है भगवान शिव को महाकाल, महादेव, महाकालेश्वर, संभु, नटराज, भैरव, आदियोगी आदि नामों से भी जाने जाते हैं।

भगवान शिव के कई मंदिरों में से एक कर्नाटक (Karnataka) के कोलार जिले के कमसमंद्रा गांव में स्थित ‘श्री कोतिलिंगेश्वारा स्वामी मंदिर’ (Sri Kotilingeswara Swami Temple) है। इस मंदिर की सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि यहाँ 1 करोड़ शिवलिंग हैं। आज हम आपको कोतिलिंगेश्वारा स्वामी मंदिर के विषय में कुछ खास रहस्मय बाते बताने जा रहे है।

पाँच शिवलिंग से हुई थी शुरूआत

आपको बता दें कि मान्यता के अनुसार इस मंदिर का निर्माण संभा शिवमूर्ति (Sambha Shiv Murti) और उनकी पत्नी वी रुक्मिणी (V Rukmini) ने साल 1980 के लगभग में करवाया था। साथ ही लोगों का कहना है कि सबसे पहले यहाँ पाँच शिवलिंग लगाए गए। उसके बाद एक सौ एक शिवलिंग और फिर एक हज़ार एक और इसी तरह आज यहाँ लगभग 1 करोड़ शिवलिंग स्थापित हैं। साल 2018 में संभा शिव मूर्ति के निधन के बाद अन्य अधिकारी यहाँ शिवलिंग लगाते रहे हैं।

भगवान इंद्र ने की थी शिवलिंग की स्‍थापना

जैसा कि संभा शिव चाहते थे कि यहाँ करोड़ों शिवलिंग की स्थापना हो इसलिए उनकी इच्छा को पूरा करते हुए कोतिलिंगेश्वारा स्वामी मंदिर में 1 करोड़ शिवलिंग स्थापित किए गए। इस मंदिर के विषय में लोगों का कहना है कि भगवान इंद्रा ने गौतम ऋषि के शाप से मुक्‍त होने के लिए यहाँ शिवलिंग की स्‍थापना की थी। उसके बाद से ये मंदिर कोतिलिंगेश्वारा के नाम जाने जाना लगा। यहाँ कोई भी शिव भक्त अपने नाम का शिवलिंग स्थापित कर सकता है।

कोतिलिंगेश्वारा मंदिर में 108 फिट ऊंची है शिवलिंग

आपको पता होना चाहिए कि कोतिलिंगेश्वारा मंदिर में मुर्ति के रूप में स्थापित शिवलिंग की ऊँचाई लगभग 108 फिट है। अगर कोई शिव भक्त यह मंदिर में शिवलिंग की स्थापना करना चाहते हैं, तो वह 1 फीट से लेकर 3 फीट तक के शिवलिंग को अपने नाम से स्थापित कर सकता हैं। महाशिवरात्री के दिन यहाँ लाखों भक्तों की भीड़ उमड़ती है।

श्रद्धालुओं की हर मनोकामना पूरी होती है

इधर जानकारों की माने तो महाशिवरात्री के दिन श्रद्धालुओं की संख्या 2 लाख से आधिक होती है। बहुत पुरानी मान्यता है कि यहाँ के वृक्षों पर पीले धागे को बांधने से सभी मनोकामना पूरी हो जाती है। कोतिलिंगेश्वारा मंदिर के अलावा यहाँ मौजूद 11 अन्य मंदिर भी बेहद प्रसिद्ध है। इन 11 मंदिरों में ब्रह्माजी, विष्णुजी, राम-लक्ष्मण-सीता और वेंकटरमानी स्वामी आदि इस परिसर में मुख्य मंदिर है। अगर कभी आपको समय मिले तो कोतिलिंगेश्वारा मंदिर जाकर भगवान शिव की पूजा जरूर करें। : Sri kotilingeshwar temple in South India where there are one crore shivling and 108 feet long shivling

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.