Connect with us

BIHAR

पटना में हड़ताली मोड़ से बोरिंग कैनल रोड तक फ्लाई ओवर निर्माण को मंजूरी, प्रक्रिया शुरू

Published

on

पटना में हड़ताली माेड़ से बोरिंग कैनाल रोड के बीच फ्लाईओवर निर्माण को मंजूरी मिल गई है। यह फ्लाईओवर लोहिया पथचक्र का भाग होगा। इस फ्लाईओवर के बनने में सबसे बड़ा रुकावट पुराने पेड़ हैं। जिस भाग में फ्लाईओवर बनना है, उसमें कुल 109 पुराने पेड़ हैं। इन पेड़ाें को काटने की अनापत्ति प्रमाण पत्र वन विभाग के साथ ही दूसरे एजेंसियों ने पुल विकास निगम को दी है। पेड़ काटने शुरू हो गए हैं। जाे पेड़ छोटे तथा नए हैं, उन्हें उखाड़कर अन्य स्थानों पर लगाया जाएगा।

इसके अलावा बोरिंग सड़क के ड्रेनेज सिस्टम को और भी बड़ी पाइपलाइन से कनेक्ट किया जाएगा। ओवरहेड बिजली वायर को हटाया जाएगा। इसका प्रोसेस शुरू हो गया है। हड़ताली मोड़ के नजदीक दो सरकारी भवनों को ध्वस्त करना है। इन सभी कामों के पूर्ण होने के बाद फ्लाईओवर निर्माण का काम शुरू हाेगा।

वहीं, बोरिंग राेड में पथचक्र के तहत फ्लाईओवर का निर्माण होना है, इसलिए यहां के ड्रेनेज व्यवस्था को बेली रोड के पार अटल पथ वाले भाग में शिफ्ट किया जाएगा। इस वजह से अटल पथ की पश्चिमी सर्विस लेन को लगभग 20 दिनों तक बंद रखने का फैसला लिया गया है। लोहिया पथचक्र से जुड़े अधिकारी कहते हैं कि बोरिंग रोड के ड्रेनेज शिफ्टिंग हेतु निर्माण काम होने हैं, लिहाजा अटल पथ के सर्विस रोड पर पाबंदी लगा दी गई है।

लाेहिया पथचक्र चरण-2 को तीन भागों में बनाने का योजना है। पहला भाग दारोगा राय पथ स्थित विजिलेंस दफ्तर से हड़ताली मोड़ के बीच 350 मीटर लंबे पुल का निर्माण जारी है। दूसरा भाग हड़ताली मोड़ से बोरिंग रोड के बीच बनेगा, जो एसके पुरी की ओर जाने वाले चौराहे से पूर्व उतरेगा। इस पुल की लंबाई लगभग 250 मीटर की होगी। दो लेन का सर्विस रोड होगा। तीसरे भाग में अटल पथ के नीचे एक पुल आरंभ होगा तथा बिहार म्यूजियम के पहले खत्म होगा।

वर्तमान के मुकाबले अटल पथ के सर्विस लेन को और भी अच्छा किया जाएगा। निगम दोनों सर्विस लेन की चौड़ाई में बढ़ोतरी करने के साथ ही पुल निर्माण इसकी संपकर्ता को बढ़ाने पर काम करेगा। अधिकारियों ने कहा कि दारोगा राय पथ से जब अंडरपास बेली सड़क तक आएगा, अटल पथ के सर्विस लेन का इस्तेमाल बढ़ जाएगा। यही वजह है कि अटल पथ के सर्विस लेन को विकसित करने की योजना है।